दोस्त की पत्नी से दुष्कर्म का प्रयास, फिर हत्या, पत्थर से सिर कुचला, नहीं मरी तो उसी की साड़ी से घोंट दिया गला

आरोपी की निशानदेही पर पुलिस ने भुखी बाई की साड़ी, आरोपी के कपड़े और वारदात में प्रयुक्त पत्थर को बरामद कर लिया है। आरोपी को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया है।

छत्तीसगढ़ के नवगठित जिले मोहला-मानपुर-अंबागढ़ चौकी (MMA) में एक युवक ने अपने ही दोस्त के साथ घिनौनी हरकत की। पहले तो उसने दोस्त की पत्नी से अवैध संबंध बनाने को कहा। महिला के मना करने पर उससे दुष्कर्म का प्रयास किया। इसमें भी नाकाम रहा तो पत्थर से महिला का सिर कुचल दिया। जब महिला नहीं मरी तो उसकी ही साड़ी से गला घोंटकर हत्या कर दी। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने वारदात में प्रयुक्त पत्थर भी बरामद कर लिया है। मामला अंबागढ़ चौकी क्षेत्र का है।

16 फरवरी को खेत में मिला था शव
जानकारी के मुताबिक, ग्राम मुरारगोटा के भर्री खेत में 16 फरवरी को स्थानीय निवासी महिला भुखी बाई लाटिया का शव क्षत-विक्षत हालत में मिला था। सूचना मिलने पर पुलिस पहुंची और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। इसमें पता चला कि महिला के साथ मारपीट करने के बाद उसकी हत्या की गई है। महिला के नाखूनों में किसी व्यक्ति की स्किन के टुकड़े भी मिले। इस आधार पर पुलिस ने आसपास के लोगों से पूछताछ शुरू की। इसमें भुखी बाई के पति का दोस्त डाकेश उर्फ डाकेश्वर मंडावी भी शामिल था।

हाथों में आई खरोंच के चलते संदेह में आया आरोपी
पुलिस ने बताया कि पूछताछ के दौरान डाकेश्वर के हाथों में चोट और खरोंच के निशान दिखाई दिए। इसके बारे में पूछताछ की तो वह हड़बड़ा गया और अजीब तरह के जवाब देने लगा। संदेह के आधार पर डाकेश्वर को हिरासत में ले लिया गया और सख्ती से पूछताछ की गई। इसमें आरोपी डाकेश्वर ने भुखी बाई की हत्या करने की बात स्वीकार कर ली। आरोपी ने पुलिस को बताया उसे पता था कि भुखी बाई खेत में अकेली होती है। वारदात के दिन भुखी बाई वहां लाखड़ी फसल की रखवाली करने के लिए गई थी।

भुखी बाई को खेत में पटककर पत्थर से किया वार
डाकेश्वर ने पुलिस को बताया कि उसने भुखी बाई से अवैध संबंध बनाने की बात कही। इस पर वह नाराज हो गई और पति व परिवार वालों को बताने की बात कहने लगी। इस पर आरोपी ने दौड़ाकर भुखी बाई को पकड़ लिया और दुष्कर्म का प्रयास करने लगा। इस दौरान दोनों के बीच जमकर हाथापाई भी हुई। इसमें डाकेश्वर को खरोंचे आईं, वहीं भुखी बाई के कपड़े अस्त-व्यस्त हो गए। आरोपी डाकेश्वर ने भुखी बाई को खेत में पटक दिया और वहीं पास पड़े पत्थर से लगातार वार कर लहूलुहान कर डाला।

आरोपी की निशानदेही पर कपड़े सहित अन्य सामान बरामद
आरोपी को जब लगा कि भुखी बाई अभी भी जिंदा है तो उसने साड़ी से ही उसका गला घोंट दिया। फिर खून से सने पत्थर को पास के खेत में फेंककर भाग निकला। घर आकर अपने कपड़े बदले और काम पर चला गया। शाम को लौटा तो परिजनों और गांव वालों के साथ भुखी बाई को ढूंढने का नाटक करता रहा। आरोपी की निशानदेही पर पुलिस ने भुखी बाई की साड़ी, आरोपी के कपड़े और वारदात में प्रयुक्त पत्थर को बरामद कर लिया है। आरोपी को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया है।