सेल इम्प्लाइज सुपर एनुएशन बेनिफेशियल फंड (एस ईएसबीएफ) की एक बैठक 27 फरवरी को कलकत्ता मे राउरकेला के ईडी पर्सनल पी के सतपथी की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई।

सेल इम्प्लाइज सुपर एनुएशन बेनिफेशियल फंड (एस ईएसबीएफ) की एक बैठक 27 फरवरी को कलकत्ता मे राउरकेला के ईडी पर्सनल पी के सतपथी की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई।

भिलाई से भिलाई इस्पात मजदूर संघ के संयुक्त महामंत्री संजय प्रताप सिंह सदस्य के रूप में इस बैठक में शामिल हुए।
मीडिया प्रभारी अशोक माहौर को उन्होंने बताया कि इस बैठक में एस ईएसबीएफ ने आज बाजार की वर्तमान स्थिति और जोखिम को देखते हुए सुरक्षित निवेश पर जोर दिया है जिससे सदस्यों का पैसा सुरक्षित रहे ऐसी किसी भी जगह निवेश नहीं किया जायेगा जहां नुकसान का खतरा हो।
नेशनल हाईवे 8 करोड़ इन्वेस्ट किया जाएगा तथा राज्य सरकार निगमों में इन्वेस्ट करने से बचा जाएगा जिससे कर्मचारियों का पैसा सेफ रहे
ज्यादा ब्याज असुरक्षित हो सकता है इससे बचना है इस बैठक में यह भी निर्णय हुआ है कि कंपनी निवेश संबंधी सूचना हर 3 महीने में बोर्ड ऑफ ट्रस्टी को प्रदान करेगी l SESBF कि यह बैठक कोविड -19 काल के बाद पहला बैठक है
मीटिंग में ये तय किया गया की जिस एजेंडा पे चर्चा होनी है उसका विषय एक हफ्ता पहले हमें भेज दिए जाएं ताकि उस सब्जेक्ट पर हम अपने यूनियन के साथी और कर्मचारियों के साथ चर्चा करके पूरी तैयारी के साथ आ सके.


इन्वेस्टमेंट के विषय पर चर्चा के दौरान कहा गया कि शेयर मार्केट मैं पैसा इन्वेस्ट करना काफ़ी जोखिम भरा काम होता है इसलिए हम ट्रस्टीज़ ने ये बात रखी कि पैसा निवेश करते वक़्त सावधानी ली जाए तो मैनेजमेंट की तरफ से ये जवाब आया कि सरकार की advice के अनुसार AA प्लस रेटिंग से कम के शेयर्स में निवेश न किया जाए लेकिन हम और सावधानी बरत के AAA प्लस से कम की रेटिंग में निवेश नही करेंगे. इसके साथ – साथ यह विषय भी चर्चा में आया कि TRUST, राज्यों और निगमों के वजाय केंद्रीय संस्थानों में निवेश करने पे ज़्यादा ध्यान दे रही है.
NHAI पर 8 करोड़ रुपये निवेश करने के पीछे का कारण पूछे जाने पर मैनेजमेंट द्वारा बताया गया कि NHAI रोड और इंफ्रास्ट्रक्चर पे अच्छा काम कर रही है जिससे आगे चल कर व्यावसायिक गतीविधियाँ बढ़ने से टोल कलेक्शन बढ़ेगा इसलिए हमें भी अच्छे रिटर्न्स की उम्मीद है.