चंदूलाल चंद्राकर अस्पताल के संस्थापक डॉ. एम पी चन्द्राकर का निधन,आज होगा अंतिम संस्कार

चंदूलाल चंद्राकर अस्पताल के संस्थापक डॉ. एम पी चन्द्राकर का निधन,आज होगा अंतिम संस्कार

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल,गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू होंगे शामिल


खून की उल्टी होने के बाद बनाया गया था ग्रीन कॉरिडोर, लेकिन नहीं बच पाई जान
दुर्ग। चंदूलाल चंद्राकर हॉस्पिटल एवं मेडिकल कॉलेज की स्थापना करने वाले इसके संस्थापक डॉ. एमपी चंद्राकर अब इस दुनिया में नही रहे। तबियत बिगडऩे के कारण उनका इलाज चंदूलाल चंद्राकर अस्पताल में चल रहा था। देर रात अचानक तबीयत बिगडऩे पर ग्रीन कॉरिडोर बनाकर उन्हें रायपुर के रामकृष्ण केयर हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां उनकी मौत हो गई।


ज्ञातव्य हो कि डॉ. चंद्राकर मेडिकल कॉलेज और अस्पताल के फाउंडर डायरेक्टर थे। इन्होंने चंदूलाल चंद्राकर अस्पताल और मेडिकल कॉलेज की स्थापना सन 1996 में की ओैर सन 2000 में अस्पताल का निर्माण पूरा हुआ। डॉ. चंद्रकार पिछले कुछ सालों से स्वास्थ्य खराब रहने के कारण अस्पताल नही आ पा रहे थे। इनके द्वारा स्थापित चंदूलाल चंद्राकार मेडिकल कॉलेज को छत्तीसगढ़ शासन ने अधिग्रहित कर किया। डॉ. एम पी चंद्राकर की पिछले कई दिनों से स्वास्थ्य खराब चल रहा था जिससे उनका इलाज उनके अस्पताल चंदूलाल चंद्राकर अस्पताल नेहरू नगर में चल रहा था। अचानक उनको खून की उल्टियां होने लगी उसके तुरंत बाद ग्रीन कॉरिडोर तैयार कर उन्हें रायपुर के रामकृष्ण केयर अस्पताल ले जाया गया। वहां इलाज के दौरान उनका निधन हुआ।
कांग्रेस जिलाध्यक्ष मुकेश चंद्राकर के जीजा थे एमपी चंद्राकर
छत्तीसगढ निर्माण के लिए कई कई बार अंदोलन करने वाले जिले के पुरोधा सांसद चन्दुलाल चन्द्राकर के कार्यों से प्रभावित डॉ. एम पी चंद्राकर ने उनके नाम पर अस्पताल का निर्माण करवाये थे ताकि आने वाली पीढी भी जान सके के चन्दुलाल चन्द्राकर कौन थे। ज्ञातव्य हो कि एमपी चन्द्राकर भिलाई कांग्रेस के जिलाध्यक्ष मुकेश चन्द्राकर के जीजी जी थे। डॉ. चंद्राकर का अंतिम संस्कार शनिवार को किया जाएगा।