सुअर का शिकार करना युवक को पड़ा महंगा, खुद की बंदूक से लगी गोली, पसली से घुसी और पीठ से हुई पार

सुअर का शिकार करना एक ग्रामीण को भारी पड़ गया। खुद की बंदूक से ही उसे गोली लग गई। बंदूक लेकर गिरने से हादसा हुआ। जिसके बाद घायल युवक को बेहतर उपचार के लिए जिला अस्पताल रेफर किया गया।

नारायणपुर जिले के ओरछा थाना क्षेत्र के ग्राम चिंतलनार डुगरीपारा में जंगली सुअर का शिकार करने गया ग्रामीण खुद ही अपने बंदूक से घायल हो गया। जिसे बेहतर उपचार के लिए मेकाज में भर्ती किया गया है। मामले के बारे में जानकारी देते हुए घायल के साथ आया उसका भांजा मंगेश ने बताया की मामा संतू राम मडकामी 25 वर्ष के साथ शनिवार की शाम को घर से करीब 10 किमी दूर गुगला जंगल जंगली सुअर का शिकार करने के लिए गया हुआ था।

उसी समय जंगल में एक सुअर भागता हुआ दिखाई दिया। जिसे संतू से अपने भरमार बंदूक से 2 गोली भी मारी, गोली लगने के बाद भी सुअर मौके से भाग निकला। जिसके बाद संतू भरमार बंदूक को अपने बाजू में रखकर बैठने के लिए घेरा बना रहा था की अचानक भरमार बंदूक नीचे अपने आप गिर पड़ी, जिससे की बंदूक अपने आप चल गई।

बंदूक से निकली गोली संतू के पसली से होते हुए पीठ से आर पार हो गई और संतू के पीछे रखे बॉस में जा धंसी। घायल को शाम 6 बजे बेहतर उपचार के लिए नारायणपुर के जिला अस्पताल में भर्ती किया गया। जहां से उसे बेहतर उपचार के लिए सोमवार को मेकाज रेफर किया गया। घायल संतू ने बताया की उसके पास रखे भरमार बंदूक को बचपन से देख रहा है।

उस बंदूक को उसकी दादी सुक्को उपयोग करती थी, लेकिन उसकी दादी के निधन के बाद से उस बंदूक का उपयोग शिकार के लिए किया जाता था। इस भरमार का उपयोग घायल के अलावा उसके दोनों भाई भी उपयोग करते है, घायल को मेकाज में भर्ती करने के बाद उपचार जारी है।