भारतीय मजदूर संघ के स्टील फेडरेशन के प्रभारी देवेंद्र पांडेय भिलाई प्रवास के अवसर पर एक आवश्यक मीटिंग यूनियन कार्यालय में ली

भारतीय मजदूर संघ के स्टील फेडरेशन के प्रभारी देवेंद्र पांडेय भिलाई प्रवास के अवसर पर एक आवश्यक मीटिंग यूनियन कार्यालय में रखी गई जिसमें अध्यक्ष आई पी मिश्रा कार्यकारी अध्यक्ष चन्ना केशवलू के साथ कार्यकारिणी के सभी पदाधिकारी उपस्थित थे स्टील प्रभारी से राष्ट्रीय तथा स्थानीय मुद्दों पर चर्चा हुई इस अवसर पर यूनियन के मीडिया प्रभारी अशोक माहौर ने उनसे कुछ प्रश्नों के उत्तर जानना चाहा जिसका उन्होंने खुलकर जबाब दिया।
प्र.-39 महीने का एरियर्स कब मिलेगा
उ- यह प्रश्न हमसे न पूछकर उन यूनियनों से पूछना चाहिए जिन्होंने एमओयू पर हस्ताक्षर किए हैं क्योंकि जब हस्ताक्षर किए थे तब एरियर्स के बारे उसमें स्पष्ट उल्लेख क्यों नहीं किया।
प्र- पूर्ण वेज रिवीजन कब होगा तथा इसमें बीएमएस हस्ताक्षर कब करेगा
उ- जिन 3 यूनियनों ने इसमें हस्ताक्षर किए हैं उन्हें प्रबंधन पर दबाव बनाना चाहिए रहा सवाल बीएमएस का तो हमें हस्ताक्षर करने पर कोई गुरेज नहीं है पर हमारी जो मुख्य मांगे हैं उन्हें प्रबंधन को मानना चाहिए।
प्र- इस बिषय पर आपकी क्या मांग है
उ- हम श्रमिकों के हक की बात कर रहे हैं जिसमें मुख्य रूप से

  1. ट्रांसफर कर्मियों की वापसी हो
  2. 1.5% पार्क्स में बढ़ोतरी कर 28% पार्क्स किया जाए
  3. 39 महीने के एरियर्स का भुगतान किया जाए
  4. सारे बेनिफिट 1/1/2017 से मिले
    प्र- एमओए कब तक होगा
    उ- इसका जवाब प्रबंधन के पास है फिर भी हमारा कहना है कि हर एमओयू की एक समय सीमा होती है प्रबंधन को इस बात का ध्यान रखना चाहिए
    युवा कर्मियों के ट्रांसफर के संबंध में उन्होंने कहा की हमारा प्रयास हर स्तर पर जारी है इस संबंध में हमारे भिलाई के कार्यकारी अध्यक्ष चन्ना केशवलू महामंत्री रवि शंकर भी केंद्रीय मंत्री से लेकर डायरेक्टर पर्सनल तथा अन्य उच्च अधिकारियों से संपर्क में है प्रयास जारी है परिणाम अच्छे ही होंगे।
    भिलाई के कर्मचारियों के मुद्दों को हल करवाने प्रयास हेतु स्टील प्रभारी एवं एन जे सी एस के केंद्रीय सद्स्य देवेंद्र पांडे जी के साथ अध्यक्ष आई पी मिश्रा कार्यकारी अध्यक्ष चन्ना केशवलू महामंत्री रवि शंकर सिह एवं उपाध्यक्ष देवेंद्र कौशिक का एक प्रतिनिधिमंडल 0डायरेक्टर इंचार्ज से मुलाकात किए तथा निम्न मुद्दों पर उनके साथ चर्चा की
  5. भिलाई क्लब की तरह स्टील क्लबों का पूर्ण संधारण किया जाना
  6. भिलाई होटल के कमरों को कर्मचारियों के लिए भी सब्सिडी रेट पर दिया जाना
  7. संयंत्र के भीतर एवं हॉस्पिटल में सब्सिडी रेट पर कॉफी हाउस खोला जाना
  8. भिलाई इस्पात संयंत्र के सभी कर्मचारियों को बीएसपी सिम दीया जाना
  9. स्टील एम्पलाई वेलफेयर एसोसिएशन (SEWA) का चुनाव करवाया जाना
  10. SEWA द्वारा इस वर्ष करवाए जा रहे 50 लाख की बीमा की किस्त प्रबंधन द्वारा भरी जाए
    उपरोक्त सभी मुद्दों पर डायरेक्टर इंचार्ज से गहन विचार-विमर्श किया गया जिसमें डायरेक्टर इंचार्ज ने क्लबों के संधारण तथा सेवा का चुनाव करवाने के लिए सहमति जताई इसके अलावा अन्य मुद्दों पर विचार विमर्श के बाद निर्णय लेने के बारे में कहा।