पुलिस अधीक्षक दुर्ग डॉ. अभिषेक पल्लव के द्वारा ली गई क्राइम मीटिंग

पुलिस अधीक्षक दुर्ग डॉ. अभिषेक पल्लव के द्वारा ली गई क्राइम मीटिंग

क्राइम मीटिंग में ऑनलाइन सट्टा महादेव एप के विरुद्ध 12 सेल कंपनी के 600 करोड़ की राशि जप्त कर,डायरेक्टरों की गिरफ्तारी के संबंध में दिए गए निर्देश।

चिटफंड कंपनी पर प्रभावी रोकथाम हेतु दिए गए निर्देश, 12 नए एफ.आई.आर कर, उनके डायरेक्टरों की जल्द गिरफ्तारी हेतु दिए गए निर्देश।

अवैध हथियार, चाकूबाजी की घटनाओं पर रोकथाम हेतु सोशल मीडिया में नजर रख आर्म्स एक्ट के तहत कार्यवाही करने के दिए निर्देश।

संपूर्ण दुर्ग जिले में सीसीटीवी कैमरे का बिछाया जाएगा जाल, जिसके टेस्टिंग कंट्रोल रूम भिलाई से शुरू।

आज दिनांक को पुलिस नियंत्रण कक्ष भिलाई के सभागार में पुलिस अधीक्षक दुर्ग डॉ अभिषेक पल्लव के द्वारा जिला दुर्ग के समस्त राजपत्रित अधिकारी, थाना/ चौकी प्रभारियों की क्राइम मीटिंग ली गई। मीटिंग में दिए गए एजेंडा बिंदुओं पर कार्यों की प्रगति संबंधी अपराध समीक्षा बैठक ली गई। पुलिस अधीक्षक ने लंबित अपराधों/मार्ग/ समंस वारंट/क्षतिपूर्ति प्रकरण एवं शिकायत की समीक्षा करते हुए त्वरित निराकरण करने व पेंडेंसी कम करने के उद्देश्य से सभी सुपरविजन अधिकारी एवं थाना व चौकी प्रभारियों से सभी अनसुलझे व लंबित मामलों पर चर्चा कर निकाल हेतु महत्वपूर्ण दिशा निर्देश दिये।


मीटिंग में मुख्य रूप से ऑनलाइन सट्टा महादेव ऐप के 12 सेल कंपनी के 600 करोड़ की राशि जप्त की गई है, इन कंपनियों के डायरेक्टरों की जल्द गिरफ्तारी के संबंध में निर्देश दिया गया तथा चिटफंड कंपनी के 12 नए f.i.r. कर उनके डायरेक्टरों को जल्द गिरफ्तार करने के की बात कही गई साथ ही अपराध एवं अपराधियों की पतासाजी हेतु जिलेभर में सीसीटीवी कैमरा अधिक से अधिक लगाए जाने की बात कही एवं मुख्य चौक चौराहों में शासन-प्रशासन, बीएसपी, पी एच क्यू की मदद से ‘इंटेलीजेंट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम’ के तहत कैमरा लगाए जाने की पहल की गई। जिन भी थानों में सीसीटीवी कैमरा नहीं लगे हैं तुरंत लगवाने और यदि खराब हो तो सुधर वाने के निर्देश पुलिस अधीक्षक दुर्ग के द्वारा दिए गए। अवैध हथियार चाकूबाजी की घटनाओं को रोकथाम हेतु सोशल मीडिया में नजर रखने अलग से टीम बनाकर एवं उन पर आर्म्स एक्ट के तहत मामला पंजीबद्ध कर कार्यवाही करने के लिए गए निर्देश भी दिए गए।

मीटिंग के दौरान पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा महिला संबंधी अपराधों में पुलिस मुख्यालय द्वारा जारी किए गए निर्देशों तथा महिला संबंधी रिपोर्ट एवं शिकायत पत्रों पर किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं बरतने के कड़े निर्देश दिये। साथ ही गुम नाबालिकों की पतासाजी व दस्तयाब कर प्राप्त साक्ष्य के आधार पर वैधानिक कार्यवाही करने निर्देशित किया गया है। डायल 112 के पीओआई को चेक करने एवं रिस्पांस टाइम को कम करने के निर्देश दिए गए।


सभी राजपत्रित अधिकारियों को महिला एवं बच्चों से संबंधित अपराध तथा लंबित गंभीर मामलों के साथ-साथ चिटफंड कंपनी से संबंधित शिकायतों एवं आईटी एक्ट प्रकरणों की अपने स्तर पर समीक्षा कर आवश्यकतानुसार पुलिस टीम बनाकर दीगर प्रांत भेजने हेतु निर्देशित किया।
उपरोक्त मीटिंग में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर श्री संजय ध्रुव, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण श्री अनंत कुमार, नगर पुलिस अधीक्षक दुर्ग श्री वैभव बैंकर, नगर पुलिस अधीक्षक भिलाई नगर श्री निखिल राखेचा, उप पुलिस अधीक्षक अपराध श्री प्रभात कुमार झा, नगर पुलिस अधीक्षक छावनी श्री आशीष बंछोर, उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय श्री मणिशंकर चंद्रा, पुलिस अनुविभागीय अधिकारी पाटन श्री देवांश सिंह राठौर, पुलिस अनुविभागीय अधिकारी धंमधा श्री संजय पुंढीर, उप पुलिस अधीक्षक आईयूसीएडब्ल्यू श्रीमती शिल्पा साहू, उप पुलिस अधीक्षक यातायात श्री सतीश ठाकुर उप पुलिस अधीक्षक ए.जे.के श्री विनोद मींज सहित समस्त थाना प्रभारी एवं चौकी प्रभारी उपस्थित रहे।