आबकारी नीति मामले में केजरीवाल से आज पूछताछ करेगी सीबीआई, 11 बजे बुलाया कार्यालय

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) आबकारी नीति घोटाला मामले में आज पूछताछ करेगी। केजरीवाल ने शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि वह जांच एजेंसी के समक्ष पेश होंगे। साथ ही कहा कि यदि वह भ्रष्ट हैं तो दुनिया में कोई भी ईमानदार नहीं है। उन्होंने दावा किया कि भाजपा नेता उनकी गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे और अगर भाजपा ने जांच एजेंसी को उन्हें गिरफ्तार करने का आदेश दिया होगा, तो वह ऐसा करने से इन्कार नहीं कर सकती।

सीबीआई ने आप के नेता को रविवार सुबह 11 बजे अपने मुख्यालय में पेश होने के लिए समन जारी किया है। जांच एजेंसी इस मामले में दिल्ली के पूर्व उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है।

मुझे गिरफ्तार करना चाहती है सरकार
केजरीवाल ने अपने खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप लगाने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा। कहा, गुजरात में भाजपा के 30 साल के शासन में मोदी 12 साल मुख्यमंत्री रहे, लेकिन किसी स्कूल की हालत नहीं सुधरी। दिल्ली की आप सरकार ने 5 साल में सरकारी स्कूलों की कायापलट कर दी। उन्होंने कहा कि भाजपा आप को किनारे लगाने की कोशिश की रही है। भाजपा ने पहले सत्येंद्र जैन और मनीष सिसोदिया को जेल भेजा। अब उन्हें गिरफ्तार करना चाहती है।

सीबीआई, ईडी ने कोर्ट में झूठ बोला, दर्ज कराएंगे केस
केजरीवाल ने आरोप लगाया कि सीबीआई और ईडी ने कोर्ट में झूठ बोला कि सिसोदिया ने सबूत छिपाने के लिए 14 फोन नष्ट कर दिए। ईडी के जब्त मेमो से पता चलता है कि 14 में से चार फोन उसके पास हैं, जबकि एक सीबीआई के पास है। हमारी खुद की जांच में पता चला कि शेष नौ फोन (नंबर) सक्रिय थे और आप के स्वयंसेवकों जैसे व्यक्ति इनका उपयोग कर रहे थे।

केजरीवाल ने बाद में ट्वीट किया कि हम झूठी गवाही देने और अदालतों में झूठे सबूत पेश करने के लिए सीबीआई तथा ईडी के अधिकारियों के खिलाफ उचित मामले दर्ज कराएंगे।

सीबीआई लापता फाइल के बारे में केजरीवाल से कर सकती है सवाल
केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) आबकारी नीति घोटाले में अपनी जांच से संबंधित महत्वपूर्ण बिंदुओं पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से पूछताछ कर सकती है। अधिकारियों ने कहा, एजेंसी मुख्यमंत्री से नीति निर्माण प्रक्रिया खासकर ‘लापता’ फाइल के बारे में सवाल कर सकती है।

अधिकारियों ने कहा, नीति को लेकर फाइल में विशेषज्ञ समिति, जनता और कानूनी राय थी। इस फाइल को कैबिनेट के समक्ष भी नहीं रखा गया और अब यह मिल भी नहीं रही है। एजेंसी केजरीवाल से अन्य आरोपियों के बयानों के बारे में भी पूछताछ कर सकती है, जिसमें उन्होंने संकेत दिया है कि कुछ शराब कारोबारियों और दक्षिण की शराब लॉबी को फायदा पहुंचाने के लिए नीति को कथित रूप से प्रभावित किया गया था। इसके अलावा एजेंसी आबकारी नीति के निर्माण में उनकी भूमिका और व्यापारियों तथा दक्षिण लॉबी के सदस्यों की ओर से डाले जा रहे कथित प्रभाव के बारे में उनके जानकारी का पता लगा सकती है।

आप नेता से यह भी पूछा जा सकता है कि क्या वह नीति को मंजूरी देने से पहले इसे तैयार करने में शामिल थे। उनसे अन्य मुद्दों पर भी जवाब मांगे जा सकते हैं। अधिकारियों का दावा है कि डिजिटल फोरेंसिक का उपयोग करते हुए सीबीआई ने कुछ चैट बरामद किए हैं, जिससे पता चलता है कि दक्षिण लॉबी कथित तौर पर अपने पक्ष में उत्पाद शुल्क नीति में बदलाव करने में शामिल थी। एजेंसी

लोगों की उम्मीदों को कुचलना चाहते हैं पीएम : केजरीवाल
लोगों की उम्मीदों को कुचलना चाहते हैं पीएम : केजरीवालअरविंद केजरीवाल ने जम्मू-कश्मीर के पूर्व राज्यपाल सत्यपाल मलिक के आरोपों का जिक्र करते हुए पीएम मोदी पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि सिर से पांव तक भ्रष्टाचार में डूबे ऐसे व्यक्ति के लिए भ्रष्टाचार मुद्दा कैसे हो सकता है। उन्होंने कि आजाद भारत के 75 साल के इतिहास में आप की तरह किसी भी पार्टी को निशाना नहीं बनाया गया क्योंकि इसने लोगों को उम्मीद दी है जो अब तक कोई भी पार्टी नहीं कर पाई है। आप ने लोगों को उम्मीद दी है कि वह उनकी गरीबी दूर कर सकती है, उन्हें शिक्षित कर सकती है और उनके बच्चों को रोजगार दे सकती है। प्रधानमंत्री उनकी उम्मीद को कुचलना चाहते हैं।

गिरफ्तार किए गए लोगों को प्रताड़ित कर रहीं जांच एजेंसियां
केजरीवाल ने कहा, कि आबकारी नीति घोटाले की जांच के सिलसिले में केंद्रीय जांच एजेंसियां गिरफ्तार किए गए लोगों को प्रताड़ित और धमका रही हैं। उन्होंने कहा कि वह प्रधानमंत्री से पूछना चाहते हैं कि आखिर चल क्या रहा है। वे किसी को भी पकड़ लेते हैं और फिर उन्हें केजरीवाल या सिसोदिया का नाम लेने के लिए प्रताड़ित करते हैं।