अमरकंटक मां के दरबार में सीएम भूपेश बघेल: मंदिर में किया रुद्राभिषेक,आदिपुरुष विवाद पर केंद्र और भाजपा को घेरा

अमरकंटक में मां नर्मदा की पूजा अर्चना के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल मां नर्मदा कुंड परिसर स्थित 11 रुद्र महादेव का रुद्राभिषेक भी किया। मैं छत्तीसगढ़ की खुशहाली की कामना और प्रदेश में अच्छी बारिश हो। इसी कामना के साथ आया हूं।

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बुधवार को अमरकंटक पहुंचे। जहां वह ट्राईबल यूनिवर्सिटी कैंपस में बने हेलीपैड से उतर कर सड़क मार्ग से अमरकंटक पहुंचे। मां नर्मदा के उद्गम स्थल नर्मदा मंदिर पहुंचकर मां नर्मदा की पूजा अर्चना की। मां नर्मदा की पूजा अर्चना के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल मां नर्मदा कुंड परिसर स्थित 11 रुद्र महादेव का रुद्राभिषेक भी किया।

प्रदेश की भलाई के लिए आता हूं अमरकंटक
21 मई को अचानक तीर्थ श्री अमरकंटक पहुंचे। यहां मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अमरकंटक में नर्मदा मंदिर परिसर के बाहर पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि मैं हर वर्ष अमरकंटक मां नर्मदा के दर्शन करने आता हूं। इस बार भी छत्तीसगढ़ की खुशहाली की कामना और प्रदेश में अच्छी बारिश हो। इस कामना के साथ अमरकंटक मां के दरबार में आया हूं।

भाजपा पर सीएम बघेल ने साधा निशाना
पत्रकारों द्वारा पूछे गए सवालों का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि फिल्म आदिपुरुष के माध्यम से भाजपा भगवान श्रीराम और श्री हनुमान की जो छवि जनता के मन में है, उसे बिगाड़ने का कुत्सित प्रयास कर रही है। यदि ऐसा नहीं होता तो फिल्म में जिस तरह भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री के प्रति आभार व्यक्त किया गया है। उसका खंडन भाजपा की ओर से किया गया होता। बघेल ने कहा कि भाजपा को ना तो श्रीराम से मतलब है, ना तो हनुमान से। उन्हें सिर्फ अपने व्यवसाय और वोट से मतलब है।

आदिपुरुष के बैन को लेकर सीएम ने मोदी सरकार को घेरा
छत्तीसगढ़ में आदिपुरुष को राज्य सरकार की ओर से बैन किए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि वह क्यों बैन करेंगे? फिल्म को यदि रोकना ही था तो भाजपा सरकार को रोकना था जो केंद्र में बैठी है। आखिर सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय का काम क्या है? सेंसर बोर्ड उनके हाथ में है। इसके बाद भी फिल्म रिलीज हो गई। इसकी तो जांच होनी चाहिए।

सीजी और एमपी से जुड़े प्रमुख तीर्थों पर्यटन स्थलों का होगा विकास
मुख्यमंत्री ने एक सवाल के जवाब में कहा कि गौरेला पेंड्रा मरवाही को पर्यटन जिले के रूप में विकसित किया जा रहा है। अमरकंटक मध्य प्रदेश से सटे छत्तीसगढ़ के हिस्सों के प्रमुख तीर्थों पर्यटन स्थलों को विकसित किया जा रहा है। ताकि पर्यटन को और ज्यादा बढ़ावा दिया जा सके। उन्होंने गौरेला पेंड्रा मरवाही जिले के पत्रकारों की भूमिका को रेखांकित करते हुए कहा कि आप लोगों के द्वारा ही मुझे यहां के बारे में जानकारी दी जाती है और आपके अनुसार मिली जानकारी से ही योजना बना पाता हूं।