भिलाई इस्पात संयंत्र के कर्मचारियों की इंसेंटिव पॉलिसी में होगा बदलाव बढ़ेगा पे पाकिट:- बी एम एस

भिलाई इस्पात संयंत्र के कर्मचारियों की इंसेंटिव पॉलिसी में होगा बदलाव बढ़ेगा पे पाकिट- बी एम एस

संयंत्र कर्मचारियों के हितों से जुड़े हुए विभिन्न विषयों को लेकर भिलाई इस्पात मजदूर संघ का उच्च स्तरीय प्रतिनिधि मंडल ई डी वर्क्स अंजनी कुमार के साथ उनके सभागार में एक बैठक सम्पन्न हुई जिसमें मुख्य रूप से संयंत्र कर्मचारियों का इंसेंटिव पॉलिसी को रिवाइज करने का आग्रह किया गया यूनियन के महामंत्री रवि शंकर सिंह इस विषय पर विस्तार से चर्चा करते हुये प्रबंधन का ध्यान आकर्षित करते हुये कहा की वर्ष 2007 से इनसेंटीव स्कीम मे कोई बड़ोतरी नही किया गया है जबकि भिलाई इस्पात संयंत्र हमारा प्रोडक्शन प्रोडकटिविटी मे नया कीर्तिमान स्थापित कर रहा है वर्तमान मे लगातार मैनपावर की कमी एवं लेबर प्रोडक्टिविटी मे बड़ोतरी हुई है।

इन सब बिंदुओं को ध्यान में रखते हुए इंसेंटिव स्कीम को रिवाइज करना आवश्यक है ।
डी आर तथा नान फाइनेंशियल स्कीम लागू की जाए
उपाध्यक्ष विनोद उपाध्याय ने प्रबंधन द्वारा इस वर्ष अभी तक नान फाइनेंसियल मोटिवेशनल स्कीम लागू नहीं किए जाने की ओर ध्यान आकर्षित करवाते हुए बताया कि इसे लागू किया जाना चाहिए जिससे कर्मचारियों में एक उत्साह का माहौल रहता है। उन्होंने बरसों से बंद डेली रिवार्ड स्कीम भी लागू की जाने की मांग की।
बोरिया गेट पर कर्मचारियों के लिए अलग गेट खोला जाए
अध्यक्ष आई पी मिश्रा ने बोरिया गेट में ट्रकों के अत्यधिक दबाव को देखते हुए संयंत्र कर्मचारियों के लिए अलग गेट से आने जाने की व्यवस्था की मांग की।


काफी हाउस,शुलभ शौचालय जल्दी खोले जाए
कार्यकारी अध्यक्ष चन्ना केशवलू ने निम्न बिंदुओं की ओर ध्यान आकर्षित करवाया

  1. कमजोर हो चुके स्ट्रक्चर की स्टेबिलिटी चेक करवाई जाए जिससे दुर्घटनाओं का खतरा कम हो सके
  2. सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिए नई सड़के बनाई जाए जर्जर सड़कों का रिपेयर किया जाए तथा रोड सेफ्टी के मानकों अनुसार सेफ्टी ब्रेकर बनाए जाए
  3. धूप एवं बारिश से बचाव के लिए मेन गेट बोरिया गेट के दोनों ओर शेड का निर्माण किया जाए
  4. संयंत्र के भीतर स्वच्छ खानपान के लिए चार सब्सिडी युक्त कॉफी हाउस खोलें जाए
  5. संयंत्र के भीतर स्थित रेस्ट रूम को सर्वसुविधवायकत बनाया जाय ।
    स्वर्ग रथ की मांग
    उपाध्यक्ष शारदा गुप्ता ने संयंत्र से रिटायर कर्मचारियों जिनकी मृत्यु उपरांत संयंत्र द्वारा टूटा-फूटा ग्रीस लगा हुआ ट्रक उपलब्ध करवाया जाता है उसकी जगह स्वर्गरथ की मांग की
    सेफ्टी अवेयरनेस उपहार नियमित कर्मियों को भी दिया जाए
    संयुक्त महामंत्री अशोक माहोर ने सेफ्टी के मद में 9.77 लाख को 28.5 लाख किये जाने तथा प्रतियोगिताओं के माध्यम से ठेका श्रमिकों को प्रोत्साहन हेतु उपहार दिए जाने का स्वागत करते हुए नियमित कर्मचारियों को भी उस योजना में शामिल किए जाने की मांग की क्योंकि संयंत्र की सुरक्षा में नियमित कर्मचारियों का भी बहुत बड़ा योगदान रहता है।
    महिला कर्मचारियों के लिए टाइलेट की उचित व्यवस्था हो
    प्रवीण मारडिकर ने बताया की बोरिया भंडार विभाग तथा संयत्र के अन्य विभागों में बहुत संख्या में महिला कर्मचारी, ठेका श्रमिक काम करती है काम करती है पर उनके लिए उचित टॉयलेट की व्यवस्था नहीं होने के कारण उन्हें बहुत परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जिसे तत्काल बनाए जाने की आवश्यकता है।
    ठेका श्रमिकों का मेडिकल प्रबंधन अपने हाथ में ले
    सन्नी ईप्पन सयुक्त महामन्त्री ने ठेका श्रमिकों का मेडिकल बाहरी एजेंसी से कराए जाने की बजाए संयंत्र के रास्ट्रीय व्यसायिक स्वास्थ केंद्र मे कराया जाने की मांग की एवं इस केंद्र को अपग्रेड कर मशीनो एव चिकित्सा कर्मीयो की संख्या बढ़ाए जाने की मांग की
    ई डी वर्क्स अंजनी कुमार ने सभी बातों को विस्तार से सुनने के बाद बताया की इंसेंटिव एक बड़ा मुद्दा है इस पर निश्चित ही बदलाव की जरूरत है इसमें प्रबंधन का रुख सकारात्मक है।
    प्रॉफिट कम होने के कारण नान फाइनेंशियल इस स्कीम बंद थी इसे भी जल्दी लागू किया जाएगा।
    संयंत्र के स्ट्रक्चर के संबंध में उन्होंने बताया स्टेबिलिटी टेस्ट चल रहा है सभी जगह पेंटिंग का काम भी चल रहा है सुरक्षा की दृष्टि से जो भी उचित कदम उठाए जा सकते हैं वह उठाए जा रहे हैं।
    आवश्यक सुविधाएं रेस्ट रूम टॉयलेट के संबंध में उन्होंने सकारात्मक रुख दिखाते हुए आश्वस्त किया कि इन पर काम चल रहा है जिसमें महिला टॉयलेट को प्राथमिकता के आधार पर पहले बनवाए जाएंगे।
    इसके पहले प्रबंधन की ओर से सेफ्टी विभाग तथा पीपीसी विभाग द्वारा प्रेजेंटेशन दिया गया जिसमें सेफ्टी विभाग द्वारा संयंत्र कर्मचारियों की सुरक्षा के लिए किए जा रहे कार्यों की जानकारी दी तथा सभी से सहयोग की अपील की इसी प्रकार पीपीसी द्वारा प्रोडक्शन और परफॉर्मेंस के संबंध में संयंत्र की उपलब्धियों को सभी के समक्ष रखा गया।
    आज की मीटिंग में प्रबंधन की ओर से सीजीएम तापस दासगुप्ता, श्री सरकार,संदीप माथुर, संदीप कुमार कर जीएम जे एन ठाकुर, शीजा मैथ्यूज, एसके अग्रवाल, राकेश पांडे
    यूनियन की ओर से अध्यक्ष आई पी मिश्रा कार्यकारी अध्यक्ष चन्ना केशवलू महामंत्री रवि शंकर सिंह उपाध्यक्ष देवेंद्र कौशिक हरिशंकर चतुर्वेदी शारदा गुप्ता विनोद उपाध्याय उमेश मिश्रा कैलाश सिंह संयुक्त महामंत्री रामजी सिंह, सन्नी ईप्पन ,वशिष्ठ वर्मा अशोक माहोर प्रवीण मारडिकर प्रदीप पाल संजय प्रताप सिंह धर्मेंद्र धामू