दुर्ग संभाग: बोरवेल की मिट्टी धंसने से मलबे में दबे तीन मजदूर,मौके पर पहुंची पुलिस और एसडीआरफ की टीम

बोरवेल खनन के दौरान जमीन के धंसने से तीन मजदूर मलबे में दब गए। पुलिस और एसडीआरएफ की टीम ने कड़ी मशक्कत के बाद रेस्क्यू कर शव को बाहर निकाला।

गुरूर थाना क्षेत्र में पुराने खोदे गए बोरवेल में घुसे तीन मजदूर जमीन धंसने से मलबे में दब गए। दो मजदूरों को सुरक्षित निकाल लिया गया। वहीं, एक मजदूर की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि तीनों मजदूर मशीन और पाइप लाइन निकालने के लिए जेसीबी से गड्ढा कर बोर में घुसे थे। मौके पर पहुंची पुलिस और एसडीआरफ की टीम ने रविवार रात में रेस्क्यू कर मलबे में दबे शव को बाहर निकाला।

गुरुर थाना सहायक उपनिरीक्षक धनेश्वर साहू ने बताया कि घटना की जानकारी जैसी मिली पुलिस और प्रशासन संयुक्त रूप से रेस्क्यू ऑपरेशन में जुट गई। एसडीआरएफ की टीम भी मौके पर पहुंची थी। रात लगभग दो बजे तक रेस्क्यू ऑपरेशन चला, जिसके बाद शव का रेस्क्यू कर बाहर निकाला गया है। खैरडिग्गी गांव के रहने वाले मजदूर की रामकुमार पोया (36) पुत्र पुनाराम पोया की मलबे में दबकर मृत्यु हो गई है।