कांग्रेस का ‘मिशन 2024’, अगले महीने छत्तीसगढ़ के सात जिलों से होकर गुजरेगी राहुल गांधी की न्याय यात्रा

कांग्रेस नेता राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा 14 जनवरी को मणिपुर से शुरू होने वाली है और अगले महीने छत्तीसगढ़ के सात जिलों से होकर गुजरेगी। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय ठाकुर ने कहा कि यात्रा 67 दिनों में 15 राज्यों के 110 जिलों से गुजरते हुए 6,700 किलोमीटर से अधिक की दूरी तय करने के बाद मुंबई में समाप्त होगी। पार्टी के अनुसार लोकसभा चुनाव से पहले योजनाबद्ध यह यात्रा लगभग 100 लोकसभा सीटों और 337 विधानसभा क्षेत्रों को कवर करेगी।

धनंजय ठाकुर ने कहा कि यात्रा 16-17 फरवरी के बाद छत्तीसगढ़ पहुंचने की उम्मीद है और यह पांच दिनों में राज्य के सात जिलों को कवर करेगी, जहां आदिवासियों की आबादी लगभग 32 प्रतिशत है। उन्होंने कहा कि पार्टी देश की एकता, अखंडता, संविधान और लोकतंत्र की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ‘सत्याग्रह’ को जनता के अधिकारों की लड़ाई के लिए एक मजबूत हथियार मानती है और ‘भारत जोड़ो न्याय पदयात्रा’ आजादी के बाद देश का सबसे बड़ा और परिवर्तनकारी सत्याग्रह साबित होगी’।

राजनीतिक विशेषज्ञों के अनुसार यह यात्रा लोकसभा चुनाव से पहले छत्तीसगढ़ में कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाएगी क्योंकि राज्य में हाल के विधानसभा चुनावों में पार्टी को करारी हार का सामना करना पड़ा था। छत्तीसगढ़ में 90 सदस्यीय विधानसभा में 54 सीटें जीतकर भाजपा सत्ता में लौट आई, जबकि कांग्रेस 2018 की 68 सीटों से कम होकर 35 सीटों पर विजयी हुई। गोंडवाना गणतंत्र पार्टी एक सीट जीतने में सफल रही।

इससे पहले वरिष्ठ कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने दावा किया था कि भारत जोड़ो न्याय यात्रा राजनीति के लिए कन्याकुमारी से कश्मीर तक गांधी की भारत जोड़ो यात्रा जितनी ही परिवर्तनकारी साबित होगी। 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने छत्तीसगढ़ की 11 में से 9 सीटों पर जीत हासिल की थी बाकी सीटें बस्तर और कोरबा कांग्रेस के खाते में गईं थी।