गणतंत्र दिवस समारोह हर्षोल्लास के साथ संपन्न, उप मुख्यमंत्री विजय शर्मा ने ध्वजारोहण कर परेड की ली सलामी

गणतंत्र दिवस समारोह हर्षोल्लास के साथ संपन्न

उप मुख्यमंत्री श्री विजय शर्मा ने ध्वजारोहण कर परेड की ली सलामी

सांस्कृतिक कार्यक्रम में अनुसूचित जनजाति कन्या छावात्रास, झांकी में केन्द्रीय जेल दुर्ग और परेड में जिला पुलिस बल अव्वल रह

उत्कृष्ट कार्य करने वाले अधिकारी-कर्मचारी हुए सम्मानित

दुर्ग, 26 जनवरी 2024/ गणतंत्र दिवस समारोह दुर्ग जिले में पूरे हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। मुख्य अतिथि प्रदेश के उप मुख्यमंत्री श्री विजय शर्मा ने दुर्ग के रवि शंकर स्टेडियम में आयोजित 26 जनवरी गणतंत्र दिवस के मुख्य समारोह में ध्वजारोहण कर परेड की सलामी ली। इस अवसर पर उन्होंने मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साय का प्रदेश की जनता के नाम संदेश का वाचन किया। उन्होंने उल्लास एवं उमंग के प्रतीक रंगीन गुब्बारे आसमान में छोड़े। परेड द्वारा हर्ष फायर एवं राष्ट्रपति की जय जयकार की गई। मुख्य अतिथि श्री शर्मा ने कलेक्टर सुश्री ऋचा प्रकाश चौधरी और एसएसपी श्री आर.जी. गर्ग के साथ परेड का निरीक्षण किया और आम नागरिकों का अभिवादन स्वीकार किया। परेड कमाण्डर रक्षित निरीक्षक श्री नीलकंठ वर्मा के नेतृत्व में जिला पुलिस बल, छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल, एनसीसी जुनियर एवं सीनियर, रेडक्रॉस और स्काउट गाइड के 11 प्लाटून द्वारा आकर्षक मार्च पास्ट करते हुए सलामी मंच के सामने से गुजरे। तत्पश्चात् मुख्य अतिथि श्री शर्मा प्लाटून कमाण्डरों से परिचय प्राप्त किया। इस मौके पर उन्होंने शहीद के परिजनों को शॉल एवं श्रीफल भेंट कर सम्मान किया। इस अवसर पर नगर के विभिन्न विद्यालयों के छात्र-छात्राओं ने देश-भक्ति गीतों पर आधारित सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति दिये। समारोह के समापन पूर्व मुख्य अतिथि प्रदेश के उप मुख्यमंत्री श्री विजय शर्मा ने उल्लेखनीय कार्य करने वाले विभिन्न विभागों के अधिकारियों और कर्मचारियों को सम्मानित किया। समारोह में संभागायुक्त श्री सत्यनारायण राठौर, आईजी श्री बी.एन. मीणा, विधायक श्री गजेन्द्र यादव, श्री ललित चन्द्राकर, स्थानीय जनप्रतिनिधि, गणमान्य नागरिक, जिला एवं पुलिस प्रशासन के अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।


समारोह में प्रथम स्थान प्राप्त झांकी में केन्द्रीय जेल दुर्ग के बंदियों द्वारा निर्मित वस्तुओं का प्रदर्शन किया गया। इस झांकी की मुख्य विषय वस्तु बंदियों को शिक्षा व प्रशिक्षण से सुधार एवं पुनर्वास हेतु औद्योगिक प्रशिक्षण से स्वालम्बन प्रयास के अंतर्गत जेलों में चलाए जा रहे काष्ठकला, सिलाई, स्क्रीन प्रिंटिंग, वेल्डिंग उद्योग व पाठशाला का बेसिक कोर्स तथा चन्द्रयान-3 का संक्षिप्त सजीव चित्रण प्रस्तुत किया गया है। भारत को विश्व गुरू बनाने के परिप्रेक्ष्य में हमारे यशस्वी प्रधानमंत्री के मार्ग दर्शन में भारत के वैज्ञानिकों के द्वारा चन्द्रयान-3 का चन्द्रमा की दक्षिणी ध्रुव में सफल प्रक्षेपण किया गया, इसे प्रदर्शित किया गया।
दूसरे स्थान पर महिला एवं बाल विकास विभाग के झांकी में बेटी बचाओ बेटी बढ़ाओ की झांकी प्रदर्शित की गई। झांकी लड़कियों के शिक्षा पर जोर देने के साथ लिंगानुपात को कम करना एवं संस्थागत प्रसव में सुधार ड्रॉप-आइट बच्चों को स्कूल में जोड़ना, कानूनी सहायता एवं पूनर्वास कराना, सामाजिक सुरक्षा योजनाओं पर जागरूकता, उत्कृष्ट कार्यक्षेत्र में प्रदर्शन हेतु प्रोत्साहन, माध्यमिक शिक्षा स्तर पर नामांकन में 01 प्रतिशत की वृद्धि और प्रतिवर्ष बालिकाओं और महिलाओं का कौशल विकास, सुरक्षित मासिक धर्म स्वच्छता प्रबंधन के बारे में जागरूकता बढ़ाना है।


तीसरे स्थान प्राप्त झांकी में पुलिस विभाग द्वारा सड़कों पर होने वाली सड़क दुर्घटनाओं को रोकने एवं आम नागरिकों को यातायात के प्रति जागरूकता करने, साइबर अपराध से होने वाले ठगी के प्रति जागरूकता लाने दुर्ग पुलिस लगातार प्रयासरत है। विश्वास, विकास एवं सुरक्षा हमारा दायित्व है। आम नागरिकों से अपील है कि यातायात के नियमों का पालन कर एवं दुर्घटना में घायल व्यक्ति की मदद कर हम सभी एक सच्चे देशभक्त होने क मिशाल पेश कर सकते हैं। साइबर प्रहरी अभियान के तहत दुर्ग पुलिस साबइर ठगी के प्रति आम नागरिकों को जागरूक कर रही है, अब आ रहा है भारत में नया कानून बदल रहा है। अंग्रेजों के जमाने का कानून, अब हम मानेंगे भारत का तीन नये परिवर्तित कानून-भारतीय न्याय संहिता, भारतीय नागरिक सुरक्षा संहिता एवं भारतीय साक्ष्य संंिहता आदि प्रदर्शित की गई।
सांस्कृतिक प्रस्तुति में प्रथम स्थान अनुसूचित जनजाति कन्या छात्रावास दुर्ग, द्वितीय स्थान शासकीय तिलक उच्चतर माध्यमिक विद्यालय दुर्ग को तथा तीसरा स्थान शंकुतला विद्यालय रामनगर भिलाई को मिला। सांत्वना पुरस्कार सेजेस बालाजी नगर भिलाई एवं शंकराचार्य विद्यालय हुड़को को मिला। परेड में जिला पुलिस बल को प्रथम एवं छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल को द्वितीय स्थान तथा विद्यार्थी वर्ग मंे एनसीसी सीनियर डिवीजन को प्रथम व रेडक्रॉस को द्वितीय स्थान मिला।