Gyanvapi Case: 31 साल बाद ज्ञानवापी में रात 2 बजे हुआ मंत्रोच्चार, व्यास जी के तहखाने में हुई पूजा,पुलिस की जबरदस्त घेराबंदी

बुधवार को वाराणसी की डिस्ट्रिक्ट कोर्ट ने ज्ञानवापी मस्जिद स्थित व्यास जी के तहखाने में हिंदू पक्ष को पूजा का अधिकार दे दिया. जिसके बाद कोर्ट के आदेश का अनुपालन कराने के लिए जिला प्रशासन आधी रात को ज्ञानवापी परिसर पहुंचा, जहां उन्होंने बैरिकेडिंग हटवाकर पूजा की शुरुआत कर दी. 31 साल बाद पहली पूजा करने वाले प्रसिद्ध कर्मकांडी गणेश्वर शास्त्री रहें और मंदिर के अधिकारी के रूप में कौशल राज शर्मा मौजूद रहे।

कोर्ट के आदेश का अनुपालन कराने के लिए विश्वनाथ धाम में लगभग 12 बजे जिलाधिकारी पहुचें। उनके साथ पुलिस कमिश्नर अशोक मुथा जैन व मंडलायुक्त कौशल राज शर्मा भी मौजूद रहे. प्रशासन ने कोर्ट के आदेश के अनुसार सबसे पहले बैरिकेडिंग हटवाई. इसके बाद साफ सफाई हुआ और विधि विधान से पूजन की शुरुआत हुई. पूजन काशी के प्रसिद्ध कर्मकांडी गणेश्वर शास्त्री द्रविड़ ने की. इस दौरान पुलिस कमिश्नर अशोक मुथा जैन ने कहा कि सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद है, तो जिलाधिकारी ने कहा कि कोर्ट के आदेश का कंप्लायंस कर दिया गया है।

पुलिस ने कोर्ट के आदेश का अनुपालन 24 घंटे के अंदर कर दिया. लगभग तीन बजे पूजा पाठ करवाकर अधिकारी मंदिर परिसर से बाहर आये. इस दौरान पूरी रात सुरक्षा व्यवस्था अलर्ट पर दिखी. जिला प्रशासन के अधिकारीयो के साथ साथ सीआईएसएफ और आरपीएफ के भी अधिकारी मौजूद रहें।