RBI ने दिया तगड़ा झटका: RBI ने Paytm Payment Bank पर क्यों लगाई रोक, डिटेल में जानें क्यों लिया ये बड़ा फैसला

31 जनवरी को RBI ने जाने माने पेमेंट ऑप्शन पेटीएम पेमेंट्स बैंक पर प्रतिबंध लगा दिया। RBI ने बताया कि 29 फरवरी 2024 के बाद अकाउंट और पेटीएम वॉलेट में नई जमा राशि स्वीकार नहीं की जाएगी। पेटीएम पेमेंट्स बैंक भारत की सबसे बड़ी भुगतान कंपनियों में है। इसके बावजूद आखिर क्यों RBI ने इसपर कुछ सेवाओं पर बैन लगा दिया है। आइये इसके कारण के बारे में जानते हैं।

RBI ने 31 जनवरी 2024 को पेटीएम पेमेंट्स बैंक की सर्विस पर रोक लगा दी है।
29 फरवरी, 2024 के बाद से पेमेंट प्लेटफॉर्म अपने खातों या वॉलेट में नई जमा स्वीकार नहीं कर सकता है।
पेटीएम पेमेंट्स बैंक भारत की सबसे बड़ी भुगतान फर्मों पेटीएम का हिस्सा है।

RBI ने एक एतिहासिक फैसला लेते हुए बीते बुधवार यानी 31 जनवरी 2024 को पेटीएम पेमेंट्स बैंक की सर्विस पर रोक लगा दी है। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने आदेश देते हुए कहा कि 29 फरवरी, 2024 के बाद से पेमेंट प्लेटफॉर्म अपने खातों या वॉलेट में नई जमा स्वीकार नहीं कर सकता है।

आज इस आर्टिकल के जरिए हम आपको बताएंगे कि RBI ने पेटीएम पेमेंट बैंक के खिलाफ इतना बड़ा कदम क्यों उठाया। इसके साथ ही पेटीएम ने इस पर क्या प्रतिक्रिया दी है। आइये इसके बारे में जानते हैं।

क्या होगें बदलाव
आपको बता दें कि पेटीएम पेमेंट्स बैंक भारत की सबसे बड़ी भुगतान फर्मों पेटीएम का हिस्सा है, जिसे लाखों लोगों द्वारा इस्तेमाल किया जाता हैं। मगर अब बुरी खबर ये है कि RBI द्वारा लगी रोक के बाद 29 फरवरी से प्लेटफॉर्म नई राशि डिपॉजिट करने, क्रेडिट ट्रांजैक्शन की सुविधा सहित सभी फंड ट्रांसफर की सुविधा बंद हो जाएगी।

केंद्रीय बैंक के मुख्य महाप्रबंधक योगेश दयाल ने प्रेस रिलीज में कहा कि 29 फरवरी, 2024 के बाद किसी भी कस्टमर अकाउंट, प्रीपेड टूल, वॉलेट, FASTags, NCMC कार्ड आदि में किसी भी ब्याज, कैशबैक या रिफंड के अलावा किसी भी डिपॉजिट या क्रेडिट ट्रांजेक्शन या टॉप अप की अनुमति नहीं दी जाएगी।
बचें पैसे का क्या करें?
इसके अलावा ये बात भी सामने आई है कि अगर ग्राहकों द्वारा उपयोग किए जा रहे प्रीपेड उपकरणों, फास्टैग, नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड आदि कोई राशि बची है तो वे बिना किसी प्रतिबंध के राशि खत्म होने तक इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। साथ ही अगर आपके बचत बैंक खातों, चालू खातों में कोई राशि बची है तो आप इसे बिना किसी प्रतिबंध के आसानी के निकाल सकते हैं।

RBI ने क्यों लगाया प्रतिबंध
केंद्रीय बैंक ने अपने बयान कहा कि पेटीएम पेमेंट्स बैंक के खिलाफ कार्रवाई बैंकिंग विनियमन अधिनियम, 1949 की धारा 35A के तहत की गई थी। आरबीआई ने कहा कि उसने मार्च 2022 में पेटीएम पेमेंट्स बैंक से नए कस्टमर्स जोड़ना बंद करने को कहा था। एक सिस्टम ऑडिट रिपोर्ट ने बैंक में लगातार गैर-अनुपालन और नियमों को फॉलो नहीं करने आरोप लगाया है। हालांकि आरबीआई ने इस पर कोई खास टिप्पणी नहीं की है।

पेटीएम पेमेंट्स बैंक ने क्या कहा?
Paytm ने अपनी सफाई देते हुए कहा कि वह RBI के निर्देशों का पालन करने के लिए ‘तत्काल कदम’ उठाएगी। गुरुवार को एक बयान में फिनटेक कंपनी ने कहा कि अलग-अलग पेमेंट ऑप्शन के लिए पर पेटीएम पेमेंट्स बैंक के साथ साथ अलग अलग बैंकों के साथ काम करती है। उन्होंने यह भी कहा कि अब हम योजनाओं में तेजी लाएंगे और पूरी तरह से अन्य बैंक पार्टनर्स के पास जाएंगे। यानी कि अब ओसीएल पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड के बजाय केवल अन्य बैंकों के साथ काम करेगा। इस बैन से पेटीएम को भारी नुकसान हो सकता है, अटकले लगाई जा रही है कि आरबीआई की कार्रवाई से पेटीएम को 500 करोड़ रुपये से अधिक का नुकसान होने की संभावना है। हालांकि उम्मीद है कि इसमें कुछ अहम फैसले आने वाले समय में आ सकते हैं।