तालपुरी कॉलोनी बी ब्लॉक मे लोकतंत्र की हत्या – समिति के विरुद्ध गबन की पुलिस शिकायत की खुन्नस मे विपक्ष के सैकड़ों लोगों को सदस्यता से वंचित कर चुनाव के विरुद्ध कॉलोनी वासी सड़क पर उतरे

तालपुरी कॉलोनी बी ब्लॉक मे लोकतंत्र की हत्या – समिति के विरुद्ध गबन की पुलिस शिकायत की खुन्नस मे विपक्ष के सैकड़ों लोगों को सदस्यता से वंचित कर चुनाव के विरुद्ध कॉलोनी वासी सड़क पर उतरे

आज दिनांक 08.02.24 को तालपुरी बी ब्लॉक कॉलोनी वासियों के सब्र का बांध टूटा, फर्जी चुनाव कर लोकतंत्र की हत्या के विरुद्ध कॉलोनी वासी सड़क पर उतरे व नारेबाजी कर अपना आक्रोश व्यक्त किया तथा निष्पक्ष चुनाव हेतु जनप्रतिनिधियों से हस्तक्षेप का अनुरोध किया ।
डा० लक्ष्यप्रद का कहना था की गबन व फर्जीवाड़ा के आरोप मे घिरे अध्यक्ष यमलेश देवांगन व पदाधिकारिगण हार की डर से चुनाव का सामना से बचने हेतु पिछले 4 वर्षों से चुनाव टालते रहे इस दौरान सदस्य्ता भी बंद रखी गई । पंजीयक के समक्ष शिकायत होने के बाद चुनाव कराने की प्रक्रिया आरम्भ की हुई परन्तु सुनील चौरसिया से इतना खौफ कि यदि वह चुनाव मे आ गया तो इनके और कितने कच्चा चिटठा खोल कानूनी कार्यवाही करेंगे पता नही इसलिए चौरसिया जी को चुनाव से ही बाहर रखने के सारे प्रपंच किये गये व डराने धमकाने के लिए मारपीट भी किया गया । फर्जी चुनाव से इनकी नियत व कॉलोनी मे माफिया गिरी का पता चलता है । सुशील सिंह ने कहा की सुनील चौरसिया का कॉलोनी के दोनो ब्लॉक के लिए किये गये योगदान अंचल मे एक उदाहरण है जिसकी कोई बराबरी नही कर सकता, चौरसिया जी पद के लिए नही वरन कॉलोनी मे व्यवस्था के लिए संघर्ष कर रहे है उन्हे पद नही बल्कि कॉलोनी मे पद को उनकी जरूरत है ।


गौरतलब है कि सुनील चौरसिया द्वारा कुछ माह पूर्व एसोसिएशन के अध्यक्ष यमलेश देवांगन एवं अन्य के विरुद्ध पुलिस मे किये गये गबन की शिकायत की खुन्नस मे सदस्य्ता देने से मना करते हुए पहले पुलिस शिकायत को वापस लेने को कहा इतना ही नही उसी समय बातचीत के दौरान अचानक उपाध्यक्ष असीम सिंह जो की अधिवक्ता का व्यवसाय करता है द्वारा सुनिल चौरसिया पर हमला कर दिया जो की गबन की शिकायत का दुष्परिणाम था । अधिवक्ता संघ के लोगों को गुमराह कर थाने मे बुला हंगामा व दवाव बना कर उलटे सुनील चौरसिया के विरुद्ध हीं कुटरचित कर FIR करवा दिया । गबन की बात को छुपाने के लिए FIR वाले को चुनाव से बाहर करने कि बात प्रचारित कर लोगों को गुमराह कर रहे हैँ जबकि बायलाज मे ऐसा कोई प्रावधान नही है ।


चौरसिया ने कहा की सदस्यता के पात्र 1250 मकान मालिको मे से मात्र 320 लोगों को सदस्य बना कर कुटरचित समिति थोपी
गई जिसे कॉलोनी वासी कभी स्वीकार नही करेंगे । उन्होंने आगे कहा की निष्पक्ष चुनाव करवाने हेतु पंजीयक के समक्ष 2 माह् पूर्व अपील किया गया है जिस पर सुनवाही चल रही है परन्तुअपिल् का निर्णय आने के पूर्व आनन फानन मे कुटरचित समिति गठित कर थोपा जा रहा है । उन्होंने कहा की न्याय जरूर मिलेगी, बहुत जल्द कॉलोनी मे निष्पक्ष चुनाव होगा और कॉलोनी को माफिया राज से मुक्ति मिलेगी । सुनील चौरसिया ने कॉलोनी वासियों से अपील किया है की कॉलोनी को माफिया राज से मुक्ति दिलाने हेतु तथाकथित समिति का बहिष्कार करे और एकता बनाये रखें ।