भिलाई इस्पात संयंत्र की नगर सेवाए, एनफोर्समेंट विभाग द्वारा पिछले दो वर्षो में 78 acre, बी एस पी भूमि माननीय संपदा न्यालय के आदेश पर अवेध कब्जाधारियों से कब्जा खाली करवाया गया।

सेल,भिलाई इस्पात संयंत्र की नगर सेवाए, एनफोर्समेंट विभाग(प्रवर्तन विभाग) द्वारा पिछले दो वर्षो में लगभग 78 acre, बी एस पी भूमि जो की वीरेभाट , अहिवारा, नंदिनी, सिविक सेंटर, चिखकली, खुर्सीपार, महमरा, दुर्ग , नेवई, स्टेशन मरोदा इत्यादि जगहों से माननीय संपदा न्यालय के आदेश पर कार्यपालक मजिस्ट्रेट तथा पुलिस बल की उपस्थिति में अवैध कब्जा खाली करवाया गया । पिछले दस महीने में ही लगभग 42 acre बी एस पी भूमि अवैध कब्जेधारियों से खाली करवाया गया ।लगभग 14 acre बी एस पी भूमि 363 acre कब्जे वाली भूमि से खाली करवाया गया ।इन 78 acre बी एस पी भूमि का नगर पालिक निगम /शासन का बाजार भाव लगभग 700 करोड़ रुपए है ।आधा दर्जन से अधिक ईट भट्ठे हटाया गया ,600 से अधिक बी एस पी आवास टाउनशिप के विभिन्न सेक्टर्स से कब्जे मुक्त करवाई गई। एक पूर्व MLA से भी आवास खाली करवाया गया ,इसके अलावा मिराज सिनेमा, चोपड़ा पेट्रोल पंप सहित कई इंडस्ट्रीज , फार्म हाउस,खेत आदि को भी सील किया जिनके द्वारा भिलाई स्टील प्लांट को revune नही पटाया जा रहा था ।विभाग द्वारा दो वर्षो में ही एक हजार से अधिक कार्यवाही किया गया, माननीय संपदा न्यालय द्वारा पारित 300 से अधिक डिक्री, execute किया गया। सैकरो की संख्या में अवैध निर्माण तोड़ा गया।भिलाई स्टील प्लांट की 700 करोड़ से अधिक की बी एस पी भूमि retrieve किया गया। हजारों की संख्या में शहर के मुख्य मार्गो से बैनर पोस्टर हटाया गया, रोड सुरेक्षा को देखते हुए सैकड़ों की संख्या में ठेले हटाए गए तथा पंचनामा बनाकर जप्ति भी किया गया ।सड़क दुर्घटनाएं को रोकने हेतु प्लांट तथा टाउनशिप से सैकरो की संख्या में आवारा मवेशी पकड़ कर कांजी हाउस में सोपा गया ।अवैध कब्जा रोकने हेतु जागरूकता कार्यक्रम के अलावा अवैध कब्जेधारियों की काउंसलिंग भी की गई ।भू माफियाओं, दलालों, अवैध कब्जेधारियों, के विरुद्ध निरंतर कार्यवाही किया।लगभग प्रत्येक कार्यवाही पुलिस प्रशासन और जिला प्रशासन की उपस्थिति तथा सहयोग से पूर्ण किया।इसके अलावा ऑफिसर्स एसोसिएशन, भिलाई स्टील प्लांट द्वारा लगातार एनफोर्समेंट विभाग को सहयोग किया गया ।साथ ही विभिन्न ट्रेड यूनियन द्वारा भी अवैध कब्जा हटाने में समर्थन किया गया । टाउन सर्विसेज की अन्य अनुभाग भूमि विभाग द्वारा कंधे से कंधे मिलाकर एनफोर्समेंट विभाग को सहयोग करता है ।इंजीनियरिंग विभाग द्वारा जेसीबी उपलब्ध करवाया जाता है ।पीएचडी तथा अन्य अनुभाग कई बार man power उपलब्ध करवाता है। कार्यवाही के दौरान मुख्य चिकितशालय द्वारा एंबुलेंस, फायर सर्विसेज द्वारा फायर ब्रिगेड की गाड़ियां तथा PR विभाग द्वारा रिकॉर्डिंग हेतु वीडियो ग्राफर तथा फोटो ग्राफर उपलब्ध करवाता है ।जिला पुलिस द्वारा पुलिस बल तथा जिला प्रशासन द्वारा मजिस्ट्रेट उपलब्ध करवाया जाता है ।कई राजनेतिक दवाबो तथा धमकियों को झेला गया,किंतु विभाग ने निरंतर कार्यवाही जारी रखी ।दलालों, माफियाओं और अवैध कब्जेधारियों के विरुद्ध विभाग द्वारा FIR भी दर्ज करवाया गया ।विभाग के ऊपर भी झूठा केस दर्ज करवाया गया तथा झूठे मामले में फसाने की कोशिश की गई । कब्जेधारियों में शहर के छोटे से लेकर बड़े सफेदपोश लोग भी सम्मिलित है । ये भू माफिया, दलाल, अवैध कब्जेधारी, बड़े कब्जेधारी कुछ कर्मियो को तोड़ने तथा उनका शिकार करने की भी कोशिश करते रहते है ।कुछ क्वार्टर दलालों द्वारा बार बार झूठी शिकायत एनफोर्समेंट विभाग के नाम से किया जाता है ।इन दलालों द्वारा कई अपराधी तत्वों को टाउनशिप के आवासों को किराया में डी दिया गया है ।क्वार्टर दलालों द्वारा बकायदा इन किरायेदारों को बताया गया है की यदि कोई पूछे तो टाउनशिप/एस्टेट विभाग वालो का नाम बताया।

कुछ कब्जेधारियों द्वारा ये सूचना दी गई है ।कुछ दलाल दवाब डालने हेतु दूसरो के नाम से भी फर्जी/झूठी शिकायत करते रहते है तथा कर्मियो को बदनाम करने की कोशिश करते है ।ऐसे कई झूठी शिकायत की लिखित सूचना विभाग द्वारा प्रशासन को उपलब्ध करवाया गया है ।ऐसे दलालों के विरुद्ध विभाग द्वारा प्रमाण/वीडियो रिकॉर्डिंग के साथ पुलिस थाने में शिकायत की गई है, कार्यवाही अपेक्षित है ।यदि इन दलालों के विरुद्ध ताबड़ तोड कार्यवाही कर दिया जाए IPC Section 457 के तहत तो दलाली पर रोक लग जाएगा ।कुछ दलाल हत्या जैसे जागने अपराध के भी आरोपी है ।इन दलालों द्वारा बाहर से अपराधी तत्वों को लाकर आवास किराया पर चलाया जा रहा है ।ये दलाल टाउनशिप का माहोल बिगाड़ रहे है ।ये दलाल इतने शातिर है की बकायदा कार्यालय रखे हुए है तथा निरंतर झूठी , बेबुनियाद शिकायत कर विभाग के कर्मियो को बदनाम करने की कोशिश निरंतर करते है तथा यदि इन्हे नोटिस भेजी जाती है तो ये साफ इंकार कर देते है की इनके द्वारा पत्र नहीं भेजा गया है ।ये शातिर दलाल पुलिस थाने भी पहुंच जाते है एनफोर्समेंट विभाग की शिकायत करने ।

विभाग द्वारा बिना किसी भेदभाव के अवैध कब्जेधारियों , दलालों और भू माफियाओं के विरुद्ध निरंतर कार्यवाही जारी रहेगा।ऑफिसर्स एसोसिएशन, समस्त ट्रेड यूनियन , जन प्रतिनिधि गण तथा भिलाई टाउनशिप के नागरिकों को सामने आकर टाउनशिप की फिजा बिगाड़ रहे इन दलालों को सबक सिखाने हेतु एक जुटटा दिखाना हागा।