कांग्रेस को बड़े झटके की तैयारी: कांग्रेस के ये कद्दावर नेता थोड़ी देर में हो सकते है BJP में शामिल,जानिए क्या है पूरा मामला

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और लंबे समय तक कांग्रेस के कद्दावर नेता रहे कमलनाथ किसी भी समय बीजेपी में शामिल हो सकते हैं. ये चर्चा इस वक्त पूरे मध्यप्रदेश में बहुत तेजी से फैल रही है।

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और लंबे समय तक कांग्रेस के कद्दावर नेता रहे कमलनाथ किसी भी समय बीजेपी में शामिल हो सकते हैं. ये चर्चा इस वक्त पूरे मध्यप्रदेश में बहुत तेजी से फैल रही है. कमलनाथ के बीजेपी में शामिल होने की खबरों का खंडन भी कमलनाथ द्वारा नहीं किया जा रहा है. ऊपर से कमलनाथ और उनके सांसद बेटे नकुलनाथ के सोशल अकाउंट जैसे एक्स, फेसबुक आदि से कांग्रेस का नामो-निशान भी दिखाई नहीं दे रहा है. कमलनाथ के सोशल अकाउंट पर पूर्व मुख्यमंत्री और नकुलनाथ के सोशल अकाउंट पर सांसद छिंदवाड़ा ही लिखा हुआ दिख रहा है. इन सब कारणों से ये चर्चा जंगल में आग की तरह फैल रही है कि कमलनाथ किसी भी वक्त बीजेपी में शामिल हो सकते हैं।

इस बीच कमलनाथ के छिन्दवाड़ा के तय प्रोग्राम रद्द करके अचानक दिल्ली जाने का कार्यक्रम भी जारी हो गया है. इसके कारण अटकलों का बाज़ार और भी अधिक गरम हो गया है. उनके बीजेपी में शामिल होने के लगातार क़यास लग रहे हैं. सूत्रों का कहना है दिल्ली में चल रहे बीजेपी अधिवेशन के बाद उनको भाजपा में शामिल कराया जा सकता है. लेकिन इस बीच इन सभी अटकलों को लेकर कमलनाथ और नकुलनाथ की तरफ से कोई भी खंडन जारी नहीं हो रहा है और ऐसा दिखाया जा रहा है कि इन अटकलों को लेकर कमलनाथ और नकुलनाथ को कोई परेशानी नहीं है।

जाहिर है कि ऐसे में कांग्रेस को बड़ा झटका लग सकता है. कमलनाथ पांच दशक पुराने कांग्रेसी नेता हैं. कांग्रेस पार्टी को छोड़कर कई कद्दावर नेताओं ने बीजेपी का दामन थामा है लेकिन कमलनाथ उन कांग्रेसी नेताओं में से हैं जो हमेंशा ही गांधी परिवार के सबसे वफादार नेताओं में रहे हैं. पूर्व प्रधानमंत्री स्व.राजीव गांधी के बेहद करीबी रहे कमलनाथ यदि बीजेपी में शामिल हो जाते हैं तो ऐसे में ये कांग्रेस के लिए झटका नहीं बल्कि महा झटका कहलाएगा।

कमलनाथ आज बड़ा सियासी फैसला ले सकते हैं। बीजेपी में शामिल होने की अटकलों के बीच कमलनाथ का दिल्ली दौरा होने से प्रदेश कांग्रेस में हलचल मच गई है। कमलनाथ के दिल्ली दौरे को लेकर कांग्रेस में हलचल जारी है। बताया जाता है कि कल देर रात कमलनाथ ने समर्थकों के साथ बैठक की है। उनके बीजेपी में शामिल होने की संभावना जताई जा रही है। यदि ऐसा होता है तो आगामी लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी को विपरीत परिस्थितियों का सामना करना पड़ सकता है। वहीं राजनीतिक पंडित उनके बीजेपी में शामिल होने के तर्क को सिरे से कारिज कर रहे हैं। कई लोगों को मानना है राजनीति में कुछ भी असंभव नहीं है। नेता अपने नफे-नुकसान को देखते हुए पार्टी बदल लेते है। फिरहाल उनके दिल्ली दौरे को लेकर प्रदेश का सियासी पारा चढ़ा हुआ है। बीजेपी प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने सोशल मीडिया में ट्वीट किया है। कमलनाथ और नकुल नाथ की फोटो सोशल मीडिया में डालकर ट्वीट किया है। जय श्री राम लिखकर नरेंद्र सलूजा ने कमलनाथ का सांकेतिक अभिवादन किया है।

सिंधिया के साथ संबंध हुए थे खराब तो गंवा दी थी सीएम की कुर्सी
कमलनाथ 2018 में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री बने थे. उस समय सिंधिया और कमलनाथ दोनों ही कांग्रेस में थे और दोनों ने मिलकर बड़े पैमाने पर चुनावी अभियान चलाया और बीजेपी को सत्ता से बेदखल कर दिया था. लेकिन मुख्यमंत्री बनाए जाने को लेकर दोनों के बीच खटास पैदा हो गई थी क्योंकि राहुल गांधी ने कमलनाथ को मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री बना दिया था. लेकिन इसके बाद भी सिंधिया गुट के विधायकों को कैबिनेट मंत्री बनाया गया था लेकिन सरकार चलाने के तौर-तरीकों को लेकर कमलनाथ और सिंधिया के बीच मन मुटाव हुआ और सिंधिया कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गए और उन्होंने अपने समर्थक विधायकों की मदद से कमलनाथ की सरकार गिरा दी थी

वहीं हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने कमलनाथ के नेतृत्व में चुनाव लड़ा लेकिन कांग्रेस की बुरी तरह से हार हुई और सिर्फ 66 सीटों पर कांग्रेस सिमट कर रह गई. इसके बाद कमलनाथ ने पीसीसी चीफ के पद से त्यागपत्र दिया और जीतू पटवारी को नया पीसीसी चीफ बनाया गया. इसके बाद से ही कमलनाथ कांग्रेस की सक्रिय राजनीति से दूर दिखाई दे रहे हैं और अब उनके बीजेपी में शामिल होने की खबरें तेजी से फैल रही हैं।

सांसद नकुलनाथ के सोशल अकाउंट पर कांग्रेस नहीं

वहीं कमलनाथ के बेटे और छिंदवाड़ा के सांसद नकुलनाथ के एक्स, फेसबुक, इंस्टाग्राम सहित अन्य सोशल मीडिया अकाउंट पर सिर्फ सांसद छिंदवाड़ा लिखा है लेकिन कांग्रेस का न तो कहीं पर नाम है और न ही निशान. ऐसे में अटकलें लग रही हैं कि कमलनाथ के बीजेपी में शामिल होने की खबरों के बीच उनके बेटे नकुलनाथ ने भी अपने सोशल अकाउंट से कांग्रेस को हटा दिया है. हालांकि कुछ लोगों का कहना है कि नकुलनाथ के सोशल अकाउंट पर बहुत पहले से ही कांग्रेस का नाम और निशान नहीं है. खैर, कुछ वक्त के इंतजार के बाद कमलनाथ के बीजेपी में शामिल होने की खबरों की सच्चाई सामने आ जाएगी।

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सहित अन्य कद्दावर नेताओं ने किया है स्वागत

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने बीते रोज ही प्रेस कांफ्रेंस में बोल दिया था कि कमलनाथ के लिए बीजेपी के दरवाजे खुले हैं. कैलाश विजयवर्गीय ने भी कहा है कि वे कमलनाथ का बीजेपी में आने पर स्वागत करेंगे. बीजेपी के अन्य नेताओं ने भी कमलनाथ के लिए भाजपा के दरवाजे खुले होने और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विकास के रथ पर सवार होकर देश सेवा करने का ऑफर दे चुके हैं।