लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को एक और बड़ा झटका,कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल होंगे ये दिग्‍गज पूर्व मंत्री

2009 के लोकसभा चुनाव में राठवा बीजेपी के रामसिंह राठवा से चुनाव हार गए थे. इसके बाद लगभग 10 साल तक वो किसी भी पद पर नहीं रहे. 2018 में कांग्रेस ने उन्हें राज्यसभा भेजा. हाल ही में उनका राज्यसभा का कार्यकाल खत्म हुआ है।

लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को एक और बड़ा झटका लगा है. बताया जा रहा है कि पूर्व केंद्रीय राज्यमंत्री नारण भाई राठवा बीजेपी में शामिल हो सकते हैं. जानकारी के मुताबिक, गुजरात के बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सीआर पाटिल की मौजूदगी में राठवा बीजेपी में शामिल होंगे.

कांग्रेस के लिए ये इसलिए बड़ा झटका माना जा रहा है क्योंकि राठवा की गिनती बड़ी नेताओं में होती है. राठवा यूपीए सरकार में रेल राज्य मंत्री रहे थे. उनका हाल ही में राज्यसभा का कार्यकाल खत्म हुआ है.

67 साल के नारण भाई राठवा ने राजनीति की शुरुआत कांग्रेस से ही की थी. वो पांच बार लोकसभा के सांसद रहे थे. 1989 में लोकसभा चुनाव जीतकर राठवा पहली बार संसद पहुंचे थे. इसके बाद 1991, 1996, 1998 और 2004 में भी उन्होंने चुनाव जीता. वो छोटा उदयपुर से सांसद थे. 2004 से 2009 के बीच यूपीए-1 में वो रेल राज्य मंत्री रहे थे।

2009 के लोकसभा चुनाव में राठवा बीजेपी के रामसिंह राठवा से चुनाव हार गए थे. इसके बाद लगभग 10 साल तक वो किसी भी पद पर नहीं रहे. 2018 में कांग्रेस ने उन्हें राज्यसभा भेजा. हाल ही में उनका राज्यसभा का कार्यकाल खत्म हुआ है।

इतना ही नहीं, बताया जा रहा है कि गुजरात में कांग्रेस के दिग्गज नेता रहे अहमद पटेल की बेटी भी नाराज चल रहीं हैं. दरअसल, गुजरात में लोकसभा चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच सीट शेयरिंग पर सहमति लगभग बन गई है. गुजरात की भरूच सीट आम आदमी पार्टी को मिल सकती है. अहमद पटेल की बेटी मुमताज पटेल को उम्मीद थी का पार्टी भरूच से उन्हें या उनके भाई फैसल को उम्मीदवार बना सकती है. लेकिन कांग्रेस ने ये सीट आम आदमी पार्टी के लिए छोड़ दी है.

लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को अब तक कई बड़े झटके लग चुके हैं. सोमवार को ही झारखंड से पार्टी की एकमात्र सांसद गीता कोड़ा भी बीजेपी में शामिल हो गईं. 2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को झारखंड की 14 सीटों में से सिर्फ चाईबासा में ही जीत मिली थी।