आविष्कार 2024, एक वैज्ञानिक मॉडल प्रतियोगिता सह प्रदर्शनी का आयोजन संजय रूंगटा ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस भिलाई द्वारा किया गया ।

आविष्कार 2024, एक वैज्ञानिक मॉडल प्रतियोगिता सह प्रदर्शनी का आयोजन संजय रूंगटा ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस भिलाई द्वारा किया गया ।

संजय रूंगटा ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस भिलाई द्वारा दिनांक 23 फरवरी 2024 को आविष्कार 2024 (वैज्ञानिक मॉडल प्रतियोगिता सह प्रदर्शनी) का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि डॉ. एम. के. वर्मा कुलपति छत्तीसगढ़ स्वामी विवेकानंद तकनीकी विश्वविद्यालय (सीएसवीटीयू) भिलाई, श्री संजय रूंगटा, चेयरमैन, संजय रूंगटा ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस, विशिष्ट अतिथि डॉ. साकेत रूंगटा, डायरेक्टर, संजय रूंगटा ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस, डॉ. श्रीकांत बुर्जे डायरेक्टर एकेडमिक्स, मो. शाजिद अंसारी सहायक निदेशक, मुख्य समन्वयक डॉ. तृप्ति अग्रवाल जैन, डॉ. हरीश शर्मा, अन्य संस्थानों के प्राचार्य एवं डीन, थीम समन्वयक, एचओडी, संकाय सदस्य एवं छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।

आविष्कार 2024 में कांसेप्ट वेलिडेशन, इंजीनियरिंग समाधान और आईओटी, उद्यमिता आधारित मॉडल, स्वास्थ्य और जीवन विज्ञान और सॉफ्टवेयर बेस मॉडल के विषयों के अंतर्गत कुल 70 मॉडलों का नामांकन एवं प्रदर्शन किया गया। प्रतियोगिता का निर्णय संबंधित क्षेत्रों के विशेषज्ञों द्वारा किया गया था, जिसमें डॉ. के के साहू, डॉ. चन्द्रकला जोशी, डॉ. टी पुगजेन्थन, डॉ. पंकज मिश्रा, डॉ. बिकाश कुमार, डॉ. राजेश डोरिया, डॉ. प्रदीप सिंह, श्री सत्यम खंडेलवाल, डॉ. गजाला, डॉ. रघुवंशी, डॉ. कुसुमांजलि देशमुख शामिल थे।

मुख्य अतिथि डॉ. एम. के. वर्मा कुलपति छत्तीसगढ़ स्वामी विवेकानंद तकनीकी विश्वविद्यालय (सीएसवीटीयू) भिलाई, ने छात्रों द्वारा किए गए प्रयासों को देखकर बहुत प्रसन्नता व्यक्त की । उन्होंने कहा कि कुछ मॉडल बहुत प्रभावशाली रहे, जिन्हें राज्य और राष्ट्रीय स्तर पर लाया जा सकता है और आगे सुधार के लिए विचार किया जा सकता है। उन्होंने यह भी कहा कि इस तरह की प्रतियोगिता हर संस्थान में आवश्यक रूप से होनी चाहिए जिससे विद्यार्थियों के मध्य अच्छे स्तर की प्रतियोगिता भावना का विकास हो। साथ ही उन्होंने उद्यमिता के तहत सीएसवीटीयू की विभिन्न योजनाओं के बारे में जानकारी दी और कहा कि इन योजनाओं के तहत इस तरह के मॉडल सीएसवीटीयू को प्रस्तुत किए जा सकते हैं। प्रतियोगिता के परिणाम एवं पुरस्कार वितरण मुख्य अतिथि डॉ. एम. के. वर्मा कुलपति छत्तीसगढ़ स्वामी विवेकानंद तकनीकी विश्वविद्यालय (सीएसवीटीयू) भिलाई के समक्ष किया गया जिन्होंने समूह के प्रयासों की सराहना की।

कॉन्सेप्ट वैलिडेशन थीम के तहत रु. 3100/- का पहला पुरस्कार आरसीडीएसआर और द्वितीय पुरस्कार रु. 2100/ का आरसीईटी व आरसीडीएसआर टीम द्वारा अर्जित किया गया |

आईओटी थीम के तहत रु. 3100/- का प्रथम पुरस्कार आरएसआर आरसीईटी व आरसीडीएसआर से 2100/- का द्वितीय पुरस्कार टीम द्वारा अर्जित किया गया ।
उद्यमिता आधारित थीम के तहत रु. 3100/- का प्रथम पुरस्कार व रु. 2100/- का द्वितीय पुरस्कार आरआईपीएसआर / आरआईपीएस टीम द्वारा जीता गया ।

स्वास्थ्य और जीवन विज्ञान विषय के तहत रु. 3100/- का प्रथम पुरस्कार आरसीडीएसआर टीम द्वारा अर्जित किया गया, व रु. 2100/- का द्वितीय पुरस्कार आरआईपीएसआर / आरआईपीएस टीम को मिला ।

सॉफ्टवेयर बेस मॉडल थीम के तहत रु. 3100/- का प्रथम पुरस्कार व रु. 2100/- का द्वितीय पुरस्कार आरसीडीएसआर टीम द्वारा अर्जित किया गया । इंटर डिसिप्लिनरी वर्ग में रु. 5001/- के विजेता आरआईपीएस व आरसीडीएसआर, एवं रु. 3001/- के उपविजेता आरएसआर आरसीईटी व आरसीडीएसआर रहे |

बेस्ट प्रोजेक्ट गाइड के लिए कॉन्सेप्ट वैलिडेशन वर्ग में विजेता डॉ शाहीन हमदानी, उपविजेता श्रीमती रुपाली शील कुंडू, स्वास्थ्य और जीवन विज्ञान वर्ग में श्री अर्पण डे, उपविजेता डॉ लुम्बनी, आईओटी वर्ग में विजेता श्रीमती शिरीन कौसर, उपविजेता डॉ मिथिलेश, उद्यमिता आधारित थीम के तहत बेस्ट गाइड विजेता डॉ दीपलक्ष्मी , उपविजेता श्री प्रदीप तथा सॉफ्टवेयर बेस मॉडल थीम वर्ग में विजेता डॉ भूमि चंद्राकर, उपविजेता मिस अंजलि साहू रहे | विजेता के लिए रु. 3100 व उपविजेता के लिए रु. 2100 राशि निर्धारित थी |

चेयरमैन ट्रॉफी के विजेता के रूप में रु. 11000 आरएसआर आरसीईटी से प्रोजेक्ट कैंटीन मैनेजमेंट को दिया गया व सर्वश्रेष्ठ कॉलेज के रूप में आरसीडीएसआर रु. 25000 व रु. 15000 उपविजेता के रूप में आरआईपीएसआर / आरआईपीएस ने प्राप्त किया |

श्री संजय रूंगटा, चेयरमैन और डॉ. साकेत रूंगटा, निदेशक, संजय रूंगटा ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस ने सभी को आशीर्वाद दिया और इस तरह के सफल आयोजन के लिए आयोजन समिति को बधाई दी।