महादेव एप मामले में ED का बड़ा एक्शन: 15 ठिकानों पर छापे,छत्तीसगढ़ के कई बड़े नेता और अधिकारी जांच के घेरे में हैं।

सट्टेबाजी एप महादेव के मामले में ईडी ने ये कार्रवाई की है. बताया जा रहा है कि एप से जुड़े लोगों के ठिकानों पर ये रेड डाली गई है. ईडी की टीम के साथ बड़ी संख्या में सुरक्षाकर्मी भी मौजूद हैं।

महादेव एप मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने बुधवार (28 फरवरी 2024) को बड़ा एक्शन लिया है. ईडी ने दिल्ली-NCR, मुंबई और पश्चिम बंगाल समेत 15 ठिकानों पर छापेमारी की है।

महादेव ऑनलाइन गेमिंग एप मामले में ईडी मनी लॉन्ड्रिंग की जांच कर रही है. ईडी ने अब तक इस मामले में 9 लोगों को गिरफ्तार किया है. महादेव एप मामले में छत्तीसगढ़ के कई बड़े नेता और अधिकारी जांच के घेरे में हैं।


ये लोग हो चुके गिरफ्तार
ED ने अब तक इस मामले में एप प्रमोटर के करीबी नीतीश दीवान, नितिन तिब्रेवाल, अमित अग्रवाल, पुलिस कॉन्स्टेबल भीम सिंह यादव, असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर चंद्रभूषण वर्मा, अनिल और सुनील धम्मानी और सतीश चंद्राकर को गिरफ्तार किया है।

महादेव एप से लिंक के मामले में ईडी कई बॉलीवुड एक्टर्स समेत कई हस्तियों को भी समन भेज चुकी है. इस मामले में ईडी ने दो चार्जशीट दाखिल की हैं. इसमें एप के दो प्रमोटर सौरव चंद्राकर और रवि उप्पल समेत कई नाम शामिल हैं।

अधिकारियों ने हाल ही में बताया था कि इंटरपोल के रेड नोटिस के चलते चंद्राकर और उप्पल को हाल ही में दुबई में हिरासत में लिया गया है. इन दोनों को भारतीय जांच एजेंसियां भारत लाने की कोशिश में जुटी हैं।

पिछले साल नवंबर में छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव से पहले ईडी ने गिरफ्तार आरोपी असीम दास के हवाले से दावा किया था कि महादेव सट्टेबाजी ऐप प्रमोटरों ने लगभग ₹508 करोड़ का भुगतान राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को किया था. हालांकि, बघेल ने इन आरोपों को खारिज कर दिया था.

6000 करोड़ का है पूरा घोटाला’

ED का आरोप है कि चंद्राकर ने यूएई में फरवरी 2023 में शादी की थी. इसमे करीब 200 करोड़ रुपये नकद खर्च किए गए. भारत से चंद्राकर के रिश्तेदारों को यूएई लाने के लिए प्राइवेट जेट्स किराए पर लिए गए थे. इसके अलावा शादी में पैसे देकर बॉलीवुड के सितारों को परफोर्मेंस के लिए बुलाया गया था. ईडी के मुताबिक, महादेव एप का पूरा घोटाला 6000 करोड़ रुपये का है।