भिलाई की बेटी सौम्या की खुदकुशी मामले की होगी उच्च स्तरीय जांच, विधानसभा के शून्य काल में विधायक रिकेश सेन ने की मांग,गृह मंत्रालय ने संज्ञान में लिया

भिलाई की बेटी सौम्या की खुदकुशी मामले की होगी उच्च स्तरीय जांच, विधानसभा के शून्य काल में विधायक रिकेश सेन ने की मांग,गृह मंत्रालय ने संज्ञान में लिया

भिलाई की बेटी की उसके ससुराल बसना में दहेज हत्या किए जाने का मामला विधानसभा के द्वितीय सत्र में वैशाली नगर विधायक रिकेश सेन ने शून्यकाल में उठाया। इस मामले पर गृह मंत्रालय ने तत्काल कड़ाई से जांच के आदेश दिए हैं। पहले पुलिस की ओर से मामले को दबाने के लिए इसे आत्महत्या बताया जा रहा था लेकिन मृतका के 9 साल के बेटे का एक विडियो सामने आने के बाद विधायक रिकेश सेन ने मामले में हस्तक्षेप कर इसे दहेज हत्या बताया था। दो माह पूर्व दिसंबर की इस घटना में पुलिस ने धारा 306 के तहत आत्महत्या के लिए दुष्प्रेणन का अपराध दर्ज किया था। मृतका ने एक विडियो भी बनाया था जिसमें साफ़ बताया गया था कि किस तरह उसे प्रताड़ना मिलती रही है। विधायक रिकेश की पहल पर पुलिस ने आरोपी पति व सास ससुर सहित तीन लोगों को हिरासत में लिया था। मृतका का भिलाई में 9 दिसम्बर को अंतिम संस्कार किया गया था। विधानसभा में ध्यानाकर्षण के बाद अब मामले की जांच होने से अनेक पहलुओं का खुलासा होगा तथा दहेज हत्या के तहत धाराएं बढ़ने की संभावना है।


इस घटना के बाद वैशाली नगर भिलाई के गौरव वर्मा ने बताया था कि उसकी बहन सौम्या सलूजा की शादी दिसंबर 2013 में पूरे रीति रिवाज से बसना निवासी गौरव सलूजा पिता रंजीत सलूजा के साथ हुई थी। शादी में उसके पिता ने हैसियत के मुताबिक 15 तोला सोना, ढाई लाख रुपए नगद व दहेज का पूरा सामान दिया था लेकिन उसके पति सहित सास ससुर व ननद उसे कम दहेज लाने की बात को लेकर शारीरिक व मानसिक रूप से प्रताड़ित करने लगे थे। हद तो तब हो गई जब उन्होंने 25 लाख रुपए की डिमांड को लेकर बहन को बुरी तरह मारा। जब बहन ने अपना दर्द पिता को बताया तो पिता ने दामाद गौरव सलूजा के अकाउंट में 10 लाख रुपए डाले। इतना करने के बाद भी उनकी प्रताड़ना कम नहीं हुई। इस दौरान 2014 में उसकी बहन को एक बेटा हुआ। इसके बाद गौरव का दूसरी महिला से अवैध संबंध के बारे में बहन को पता चला। जब उसने विरोध किया तो वो उसे और प्रताड़ित करने लगा। इसके बाद सौम्या ने कीटनाशक पीकर खुदकुशी करने की कोशिश भी की थी लेकिन ससुराल वालों ने उसे प्रताड़ित करना बंद नहीं किया। वर्ष 2017 में दूसरा बेटा होने के बाद गौरव ने सौम्या को जान से मारने की धमकी देते हुए गला दबाया और बुरी तरह पीटा। 1 दिसंबर 2023 को उसकी बहन का फोन आया था कि ये लोग उसे मार डालेंगे। इस पर गौरव ने बसना पुलिस को फोन किया, 112 की टीम वहां पहुंची। उन्होंने देखा कि सौम्या को काफी चोटे आईं थीं। मामला किसी तरह बीच बचाव के बात शांत हुआ। इसके बाद 8 दिसंबर 2023 को गौरव ने बहन के मोबाइल का स्टेटस देखा कि उसने अपने दोनों बच्चों का नाम और मां पिता को सारी कहते हुए लिखा आई एएम क्विट।


गौरव ने पुलिस को बताया कि उसकी बहन ने खुदकुशी नहीं की है। उसके बहनोई और ससुराल वालों ने मिलकर उसकी हत्या की है। गौरव का कहना है कि उसके भांजे ने अपने पापा को मां का गला दबाते हुए देखा है। सौम्या के शरीर में चोट के निशान थे। गौरव ने बसना थाने में शिकायत के बाद बहन के शव को अपने सुपुर्दगी में लिया और वैशाली नगर लेकर आए। 9 दिसम्बर को सौम्या का रामनगर मुक्तिधाम में अंतिम संस्कार किया गया।
सौम्या के परिजनों ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि उनकी बेटी को दहेज के लालच में मारा गया है।
विधायक रिकेश सेन ने बताया कि इस मामले को विधानसभा पटल पर लाने के बाद गृह मंत्रालय ने उच्च स्तरीय जांच कर दोषियों और उन्हें मदद करने वालों पर भी कड़ी कार्रवाई का आश्वासन दिया है। उन्होंने कहा कि जांच से वास्तविकता सामने आएगी तथा पीड़ित परिवार के साथ न्याय होगा।