धमतरी पहुंचकर कांग्रेस लोकसभा प्रत्याशी ताम्रध्वज साहू ने बनाई रणनीति, बाहरी होने पर कही ये बात,पढ़िए पूरी रिपोर्ट

कांग्रेस ने इस बार छत्तीसगढ के महासमुंद लोकसभा सीट से पूर्व गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू को चुनावी मैदान में उतारा है। मंगलवार को ताम्रध्वज साहू धमतरी कांग्रेस भवन में पहुंचे और आगामी चुनाव को लेकर रणनीति बनाई।

महासमुंद लोकसभा सीट से कांग्रेस ने इस बार छत्तीसगढ के पूर्व गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू को चुनावी मैदान में उतारा है। ऐसे में यह सीट हाई प्रोफाइल सीट बन गई है। वहीं, प्रत्याशी बनाए जाने के बाद पहली बार उनका धमतरी कांग्रेस भवन में आगमन हुआ। जहां कांग्रेस के तमाम पदाधिकारी और नेताओं के साथ बैठक कर ताम्रध्वज साहू ने आगामी चुनाव को लेकर रणनीति बनाई। इसके साथ ही सभी को एकजुट होकर चुनाव में काम करने के लिए कहा गया।

बता दें कि ताम्रध्वज साहू दुर्ग लोकसभा सीट से आते हैं, ऐसे में वे महासमुंद लोकसभा के लिए बाहरी प्रत्याशी हैं, जिसको भाजपा मुद्दा बना सकती है। वहीं, इस सवाल को मीडिया द्वारा पूर्व गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि इस सीट से कांग्रेस के दिग्गज नेता श्यामाचरण शुक्ल, अजीत जोगी और विद्याचरण शुक्ल जैसे नेता चुनाव लड़कर जीत चुके हैं।

जबकि तीनों ही इस लोकसभा के निवासी नहीं थे। उन्होंने कहा कि बाहरी प्रत्याशी वाला कोई मुद्दा ही नहीं है,मेरा बचपन धमतरी में बिता हैं यहाँ मेने पढ़ाई की,बगल में बासीन मेरा गांव हैं।में महासमुंद, गरियाबंद, धमतरी में प्रभारी मंत्री रहते जनता का काम किया और करोड़ो का विकास काम हुआ। नरेंद्र मोदी गुजरात से बनारस जाकर चुनाव लड़ते हैं,सरोज पांडे दुर्ग से कोरबा जाकर चुनाव लड़ती हैं। ताम्रध्वज साहू ने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस शासन के पांच साल में हुए विकास और देश में कांग्रेस के 70 सालों में जो काम किया गया है, उस मुद्दों को लेकर जनता के बीच जाकर वोट मांगेंगे। साथ ही दावा किया कि इस बार देश में कांग्रेस गठबंधन की सरकार बनेगी।