उधार नहीं चुकाना युवक को पड़ा महंगा: पत्नी से सपा नेता ने जबरन रचाई शादी, बच्चे की बात सुनकर सन्न रह गई पुलिस

उत्तर प्रदेश के आगरा से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है. यहां एक पति ने एक सपा नेता से उधार लिया और अपनी पत्नी को दांव पर लगा दिया. इसी दौरान एक केस में पति जेल चला गया. आरोप है कि सपा नेता ने महिला से जबरन निकाह कर लिया. उसके बाद उसे बंधक बना कर रखा था. पुलिस मामले की जांच कर रही है।

आगरा में शाहगंज थाना क्षेत्र के एक बंद पड़े अस्पताल में सपा नेता ने महिला को बंधक बनाकर रखा था. दो दिन पहले महिला ने इंस्टाग्राम पर अपने किशोर बेटे से संपर्क किया. खुद को बचाने की गुहार लगाई. बेटे की शिकायत पर पुलिस आयुक्त जे रविंद्र गौड ने महिला को मुक्त कराया. हालांकि तहरीर नहीं दी गई है. पुलिस जांच कर रही है.

आगरा में एक सपा नेता पर गंभीर आरोप लगे हैं. यहां एक 14 साल का किशोर पुलिस आयुक्त के पास पहुंचा. उसने बताया कि उसकी मां को एक सपा नेता ने बंधक बना रखा है. इंस्टाग्राम पर मां ने गुहार लगाई है, वह मां को बचाना चाहता है. पुलिस आयुक्त ने एसीपी लोहामंडी मयंक तिवारी को मौके पर भेजा. अस्पताल के कमरे में महिला मिल गई. उसके अलावा वहां और कोई नहीं मिला. मामले में एसीपी ने बताया कि महिला का पति और आरोपी साझीदार थे. महिला का पति एक मामले में जेल गया तो आरोपी ने साझीदार की पत्नी से निकाह कर उसे अपने साथ रखा था. पीड़िता से तहरीर मांगी गई है, उसके आधार पर जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

एक मामले में जेल पहुंचा पति
पीड़ित महिला ने पुलिस को बताया कि मंटोला निवासी पति का डिब्बे बनाने का कारोबार था. सपा नेता साझीदार था. सपा नेता का फाइनेंस का काम है. साझीदार ने पति को कारोबार में लगाने के लिए रकम उधार दी थी. एक मामले में पति को जेल जाना पड़ा. रकम नहीं देने पर सपा नेता शादी का दबाव बनाने लगा. जबरन अपने ही लोगों को गवाह बनाकर निकाह कर लिया।

महिला ने बंधक बनाने का लगाया आरोप
महिला का आरोप है कि बच्चों, परिवार वालों से मिलने नहीं देता था. एक महीने पहले उसे प्रतापपुरा स्थित एक होटल में एक दिन रखा. इसके बाद ताजगंज इलाके के होटल में 17 दिन रखा. इसके बाद उसे शाहगंज स्थित बंद पड़े एक अस्पताल में बंधक बना दिया था. उसकी दो लोग निगरानी करते थे. मामले में अभी तक शिकायत दर्ज नहीं हुई है. पुलिस मामले की जांच कर रही है।