रुंगटा पब्लिक स्कूल, कोहका भिलाई में ग्रेजुएशन समारोह का आयोजन

रुंगटा पब्लिक स्कूल, कोहका भिलाई में ग्रेजुएशन समारोह का आयोजन

स्नातक दिवस एक समय – सम्मानित परंपरा है जो छात्रों के जीवन में अत्यधिक महत्व रखती है। यह उनकी शैक्षणिक यात्रा की परिणति का प्रतीक है इन्हीं भावनाओं के साथ संजय रुंगटा ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस द्वारा संचालित रुंगटा पब्लिक स्कूल में ग्रेजुएशन सेरेमनी का आयोजन किया गया है प्राचार्य श्री जगदीश सिंह धामी, उपप्राचार्या श्रीमती दीप्ति सिंग के दिशा निर्देशों के अधीन हुए इस समागम की शुरुआत संस्था के चेयर मैन श्री संजय रुंगटा डायरेक्टर श्रीमती रजनी रुंगटा, श्री साकेत रुंगटा, श्रीमती हर्षा रुंगटा एवम् विशेष अतिथि के रूप में डॉक्टर जवाहर सुरी सेटी ने मां सरस्वती की आराधना के साथ ज्योति प्रज्वलित कर की। कार्यक्रम का प्रारंभ प्ले स्कूल कॉडिनेटर श्रीमती अंजना सिंग के द्वारा स्वागत भाषण से किया गया।

रुंगटा पब्लिक स्कूल एवम प्ले स्कूल किंडर गार्डन के छात्र और छात्राओं के औपचारिक शिक्षा में प्रवेश की बेला को स्मरणीय बनाया गया। इसके लिए ग्रेजुएशन समारोह का आयोजन उल्लास के साथ किया गया। नन्हे छात्रों ने रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किए जिसमें स्वागत गीत, कविता एवम् नृत्य की शानदार प्रस्तुति ने सभी दर्शकों से तालियां बटोरी ।
इस समारोह में यू. के. जी. के छात्रों को विधिवत गाउन और कैंप पहनाकर प्रमाणपत्र डिग्री के रूप में देकर सम्मानित किया गया।
नई कक्षा में जाने की खुशी सभी बच्चों के चेहरे पर साफ झलक रही थी । एवं अभिभावकों को अपने नन्हे-मुन्नों की शैक्षिक यात्रा का पहला चरण पूरा करते देखना गर्व का क्षण था।
प्राचार्य श्री जगदीश सिंह धामी ने नन्हें-मुन्ने छात्रों को पूर्व प्राथमिक स्तर से प्राथमिक स्तर की औपचारिक शिक्षा में प्रवेश हेतु शुभकामनाएं देते हुए, ग्रेजुएशन समारोह आयोजित करने का उद्देश्य बताया कि बच्चे के प्राथमिक स्तर में प्रवेश लेने पर उनमें नवीन, श्रेष्ठ, सृजनात्मक विचारों का उद्भव होता है। उनके विचारों को सही दिशा देने के लिए शिक्षकों की अनुपम भूमिका रहती है। बच्चों के सर्वांगीण व्यक्तित्व विकास के लिए महत्वपूर्ण आवश्यक कौशल का विकास कर शिक्षक उन्हें जीवन पथ की ओर सरलतापूर्वक अग्रसर होना सिखाते हैं साथ ही कहा कि यह वास्तव में छोटे बच्चों के लिए एक खुशी और यादगार दिन था |


मुख्य अतिथि श्री संजय रुंगटा ने कहा कि बच्चों में आत्मविश्वास प्रारम्भिक अवस्था से ही शिक्षकों के द्वारा विकसित किया जाता है। आत्मविश्वास द्वारा ही बच्चे जीवन में सफलता हासिल करते हैं। उनके व्यक्तित्व का चहुँमुखी विकास करने में अभिभावकों तथा शिक्षकों को अपना अमूल्य योगदान देने के लिए सदैव तत्पर रहना चाहिए साथ ही अपने बचपन की यादों को साझा करते हुए अभिभावकों को समय प्रबंधन पर सही मार्गदर्शन देने की सलाह भी दी। अंत में कहा कि यह आयोजन छात्रों, शिक्षकों और अभिभावकों द्वारा कराई गई महीनों की कड़ी मेहनत और समर्पण का परिणाम था। कार्यक्रम का समापन धन्यवाद ज्ञापन रुंगटा पब्लिक स्कूल की प्री प्रायमरी कॉर्डिनेटर श्रीमती ऋतु दवे ने किया।