छत्तीसगढ़ प्रभारी नितिन नवीन के निर्देश पर वैशाली नगर विधायक रिकेश सेन आज से 4 दिन बस्तर प्रवास पर,कोंडागांव, नारायणपुर, बस्तर, जगदलपुर, चित्रकोट, दंतेवाड़ा, बीजापुर और कोंटा की विभिन्न बैठकों में होगी शिरकत,जानें पूरी डीटेल…

छत्तीसगढ़ प्रभारी नितिन नवीन के निर्देश पर वैशाली नगर विधायक रिकेश सेन आज से 4 दिन बस्तर प्रवास पर

कोंडागांव, नारायणपुर, बस्तर, जगदलपुर, चित्रकोट, दंतेवाड़ा, बीजापुर और कोंटा की विभिन्न बैठकों में होगी शिरकत

कहा – कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न दिए जाने से उत्साहित सेन समाज के प्रतिनिधियों की भी लेंगे बैठक

लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के छत्तीसगढ़ प्रभारी नितिन नवीन के निर्देश पर वैशाली नगर विधायक रिकेश सेन आज जगदलपुर रवाना हो रहे हैं। बस्तर संभाग में लोकसभा की कुल आठ विधानसभा सीटों कोंडागांव, नारायणपुर, बस्तर, जगदलपुर, चित्रकोट, दंतेवाड़ा, बीजापुर और कोंटा में सेन समाज के प्रतिनिधियों और भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ जनसंपर्क करेंगे तथा अगले चार दिन तक विभिन्न बैठकों में भी शामिल होंगे। रायपुर विमानतल से जगदलपुर रवानगी पूर्व श्री सेन ने कहा कि छत्तीसगढ़ का बस्तर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र अपने अनूठे आदिवासी मूल निवासियों और संस्कृति के लिए जाना जाता है। छत्तीसगढ़ की 11 लोकसभा सीटों में से एक बस्तर सीट अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित है, यह बीजेपी का गढ़ रहा है। यहां से बीजेपी 1998 से 2014 तक लगातार पिछले 6 चुनाव जीतते आ रही है। बस्तर उत्तर-पश्चिम में नारायणपुर जिले से, उत्तर में कोंडागांव जिले से, पूर्व में ओडिशा राज्य के नबरंगपुर और कोरापुट जिलों से, दक्षिण और दक्षिण-पश्चिम में दंतेवाड़ा और सुकमा से घिरा हुआ है। इस क्षेत्र में आदिवासी और उड़िया संस्कृति का अनूठा मिश्रण है तथा बड़ी संख्या में नाई समाज के लोग निवास करते हैं। हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीजी ने नाई समाज से पूर्व मुख्यमंत्री कर्पूरी ठाकुरजी को भारत रत्न देकर पिछड़ा वर्ग का मान बढ़ाया है। मोदीजी ने ही वैशाली नगर से मुझे टिकट दिया और वैशाली नगर की जनता ने 41 हजार मतों के बड़े अंतर से मुझे जिताया है। छत्तीसगढ़ से लोकसभा की सभी 11 सीटों पर भाजपा को भारी मतों से जीता कर मोदीजी को तीसरी बार प्रधानमंत्री बनाने हम सभी संकल्पित हैं। छत्तीसगढ़ प्रभारी नितिन नवीन के निर्देश पर आज से मैं अगले चार दिन तक जगदलपुर प्रवास पर रहूंगा तथा इस दौरान सेन समाज सहित विभिन्न प्रतिनिधियों के साथ अनेक बैठकों में शामिल होकर भाजपा प्रत्याशी महेश कश्यप को भारी मतों के अंतर से विजयी बनाने अभेद्य रणनीति तय की जाएगी। बस्तर की कुल आठ विधानसभा सीटों पर अलग-अलग समय पर उनकी बैठकों का निर्धारण किया गया है जिसमें वह समाज के प्रतिनिधियों और भाजपा के कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे।