शराब परोस नीति नियमों की धज्जियां उड़ाने वाले भिलाई के दो मयखानों पर लगा ताला,विधायक रिकेश सेन ने डेढ़ महीने पहले दी थी हिदायत,कई अन्य बार फंसे रिनीवल की कतार में…

Two Ice Cold Glass of Beer , covered with water drops - condensation. Standing on wooden counter at a bar. Foam on the beer looks real and perfect while the colors between the glass fit perfectly with the contrast and shapes on the table.The grain and texture added. Very shallow DOF .

शराब परोस नीति नियमों की धज्जियां उड़ाने वाले भिलाई के दो मयखानों पर लगा ताला

विधायक रिकेश सेन ने डेढ़ महीने पहले दी थी हिदायत

कई अन्य बार फंसे रिनीवल की कतार में

तय नियमों और मापदंड की अवहेलना कर वैशाली नगर विधानसभा क्षेत्र में संचालित बार के लिए खतरे की घंटी बज चुकी है। आपको बता दें कि हाल ही में सूर्या टीआई मॉल में संचालित लेस्टोमेनिया और कोहका में अवंती बाई चौक का चेरिओट बार का लायसेंस अप्रैल से आबकारी विभाग ने नवीनीकृत करने से इंकार कर दिया है।
गौरतलब हो कि वैशाली नगर विधायक रिकेश सेन ने फरवरी महीने में ही नीति नियमों की अवहेलना कर बार के भीतर कई अनैतिक गतिविधियों और अन्य नशा परोसने वाले बार संचालकों को हिदायत दी थी कि वैशाली नगर विधानसभा क्षेत्र में ऐसे बार संचालक अपने क्रियाकलाप सही कर लें वरना उनका लायसेंस रिनिवल नहीं होगा और ऐसे बार पर ताला लगेगा।


नतीजतन चिन्हित ऐसे सभी बार के लायसेंस का नवीनीकरण टेढ़ी खीर साबित हुआ है। सूर्या टीआई मॉल के लिस्टमेनिया में अनेक बार छापा पड़ा लेकिन यहां हर बार नियमों की अवहेलना मिली। पूर्व सरकार में कुछ लोगों का सपोर्ट होने से इस बार के खिलाफ ठोस कार्रवाई नहीं हो सकी परिणाम स्वरूप यह बार मनमाने ढंग से संचालित होता रहा। कोहका स्थित चेरिओट बार के समीप ही कई शैक्षणिक संस्थाएं थीं और बार से लगे रानी अवंती बाई चौक पर रात में शराबियों की धमाचौकड़ी और गाली गलौज जगजाहिर था। विधायक रिकेश सेन ने विधानसभा में भी ऐसे चिन्हित बार की सूची मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय को सौंपी थी।
विधायक रिकेश सेन ने कहा कि वैशाली नगर विधानसभा क्षेत्र के सुपेला, राम नगर, कोहका, जुनवानी, पावर हाऊस में कई बार संचालित हैं, इसके आलावा कई बड़े होटल भी लायसेंस लेकर शराब परोसते रहे हैं। इनमें कुछ ऐसे भी हैं जिनमें शराब के आलावा ड्रग्स सहित कई प्रकार के नशा भी मुहैया कराया जाता रहा है। ऐसे बार लायसेंसधारक एफ एल लायसेंस में तय नीति नियमों की धज्जियां उड़ाते रहे हैं, इनके खिलाफ पिछली सरकार में अनेक शिकायतें होने के बाद भी कार्रवाई नहीं होती थी। अब ऐसे चिन्हित बार का लायसेंस आगामी तीन वर्ष तक रिनिवल नहीं होगा फिलहाल दो बार के लायसेंस रिनीवल नहीं हुए हैं और ऐसे ही कुछ और बार पर कार्रवाई होगी। जिन बार के खिलाफ अनेक बार देर रात मारपीट सहित नियम विरुद्ध संचालन की शिकायतें हुईं, ऐसे लोग न तो समय पर बार बंद करते हैं और न ही नियमों का पालन करते हैं। इनमें शराब के आलावा ड्रग्स पार्टी, विभिन्न तरह के नशीले पदार्थों की उपलब्धता रही है। ऐसे प्रतिष्ठान वैशाली नगर की शांति के लिए लगातार खतरा रहे हैं और अब विष्णुदेव सरकार में इनकी तानाशाही पर न केवल अंकुश लगेगा बल्कि इनको बंद करते हुए लायसेंस रिनिवल नहीं किया जाएगा। अब ऐसे लोगों की जोर जबरदस्ती खत्म होगी, ताला लगेगा, लायसेंस सस्पेंड होगा, रिनिवल नहीं करेंगे। उन्होंने बताया कि अभी और कई बार रिनीवल की कतार में फंसेंगे।