कुम्हारी हादसे में मृत कर्मियों के परिवार को विधायक रिकेश ने बंधाया ढांढस, कहा – राज्य सरकार हर संभव मदद करेगी, घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना

कुम्हारी हादसे में मृत कर्मियों के परिवार को विधायक रिकेश ने बंधाया ढांढस, कहा – राज्य सरकार हर संभव मदद करेगी, घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना

कल रात खपरी कुम्हारी बस हादसे में 12 मृत कर्मचारियों में से 7 के शव सुपेला शासकीय अस्पताल लाए गए थे। जिनकी पीएम कार्रवाई आज हुई। इस दौरान सुबह वैशाली नगर विधायक रिकेश सेन सुपेला अस्पताल पहुंचे और मृतक के परिजनों से मुलाकात कर ढांढस बंधाया।
विदित हो कि सुपेला अस्पताल में कल रात हादसे में मृत भिखूभाई पटेल (58 वर्ष) निवासी सेक्टर-2 सडक-3 क्वाटर-27/जी भिलाई, श्रीमती पुष्पा देवी (50 वर्ष) निवासी शर्मा आश्रम के पास जोन-3 खुर्सीपार, श्रीमती शांति बाई देवांगन (60 वर्ष) निवासी बाजार चौक महामाया वार्ड-3, कुम्हारी, श्रीमती सत्या निषाद (57 वर्ष) निवासी अर्जुन किराना दुकान के पास राम नगर थाना कुम्हारी, बिहारी यादव (70 वर्ष) निवासी भगत सिह रोड सुपेला, कमलेश देशलहरे (35 वर्ष) निवासी मकान-26/एफ, सड़क 28 सेक्टर-4, राजू राम (49 वर्ष) निवासी निषाद सेवा समिति के पास केम्प-2 शारदा पारा भिलाई का शव सुपेला शासकीय अस्पताल में देर रात पहुंचा था।


विधायक रिकेश सेन ने कहा कि यह हृदय को झकझोर देने वाली घटना है। छत्तीसगढ़ में ऐसी घटनाएं कभी होती नहीं है मुझे याद है कि आज से करीब पंद्रह साल बीस साल पहले दशहरा के वक्त ऐसी घटनाएं घटी थीं, उसके बाद कभी ऐसी घटना हुई नहीं है। घायलों का अच्छी तरह इलाज हो इसकी चिन्ता राज्य सरकार कर रही है। इस घटना में घायल रमेश यादव, गुरुमुख सिंग, निर्मल सिंग, देवेन्द्र सिंग, श्रीमती मोनिका वर्मा, श्रीमती उषा साहू, श्रीमती हस्तिना सिक्का, श्रीमती कुंती यादव, श्रीमती उर्मिला कौशल, सरजीत कौर को एम्स में भर्ती किया गया है। बिहारी लाल दुबे को मेकाहारा में एवं कविता चौधरी, प्रदीप को ओम हॉस्पिटल में भर्ती किया गया है। कुछ परिजनों की मांग है कि मुआवजा मिलना चाहिए जबकि इसकी चिंता उनको नहीं करना है, सारा विषय जो है राज्य सरकार के संज्ञान में है, बेहतर से बेहतर किया जाएगा। जिस मार्ग पर हादसा हुआ उस मार्ग पर भी सवाल उठ रहे हैं कि वहां अंधेरा रहता है, सड़क ठीक से नहीं है। साइड में रेलिंग नहीं लगी और साथ में दुर्घटनाग्रस्त बस का फिटनेस था कि नहीं, ये सारी चीजें जांच में सामने आएंगी। घटना की मजिस्ट्रियल जांच होगी जिससे सारी चीजें स्पष्ट हो जाएंगी लेकिन हमारा जो चला गया इस दुनिया से, अब उसे हम लोग वापस नहीं ला सकते, बस उनके परिवार को संबल मिल जाए और जो उम्मीदें उनको राज्य सरकार से है, वह अवश्य पूरा करने का प्रयास है। सरकार अपनी ओर से बेहतर से बेहतर करने का प्रयास करेगी।
श्री सेन ने शासकीय अस्पताल दुर्ग लाए गए मृत कर्मियों परमानंद तिवारी (55 वर्ष) निवासी हाउसिंग बोर्ड दादर रोड चरौदा, त्रिभुवन पाण्डेय (55 वर्ष) निवासी प्रगति नगर रिसाली, अमित सिन्हा (40 वर्ष) निवासी शंकर नगर थाना मोहन नगर, कृष्णा साहू (45 वर्ष) निवासी केनाल रोड जोन-2 खुर्सीपार, मनोज कुमार ध्रुव (43 वर्ष) निवासी मकान-858/4 ड्रीम सिटी उमदा रोड पुरानी भिलाई के परिजनों के विषय में जानकारी मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी से ली।