ACB-EOW की बड़ी कार्रवाई: भिलाई में दो शराब कारोबारियों के घर और रायपुर के कारोबारियों के ठिकानों पर ACB-EOW की दबिश,

छत्तीसगढ़ में ACB और EOW की टीम ने बड़ी कार्रवाई की है. अधिकारियों ने कई शराब कारोबारियों के ठिकानों पर दबिश दी है. रायपुर, बिलासपुर और दुर्ग में कार्रवाई की जा रही है. जानकारी के मुताबिक, कुछ लोक सेवकों के ठिकानों पर भी कार्रवाई की जा रही है.

भिलाई में भी एसीबी और ईओडब्ल्यू की टीम ने दबिश दी है. अधिकारियों ने शराब कारोबारियों के यहां दबिश दी है. बताया जा रहा है कि करीब 2 दर्जन अधिकारी छापे की कार्रवाई में शामिल हैं. खुर्सीपार और नेहरू नगर इलाके में यह छापामारी कार्रवाई की जा रही है. माना जा रहा है कि शराब घोटाला मामले की जांच से जुड़ी यह कार्रवाई हो सकती है.

भिलाई में शराब कारोबारी नेहरू नगर निवासी विजय भाटिया और खुर्सीपार निवासी पप्पू बंसल के घर एसीबी ने दबिश दी है।

इन दोनों के यहां पहले ईडी की रेड भी हो चुकी है। वहीं दोनों ही शराब कारोबारी जेल भी जा चुके हैं, जहां से दोनों हाल ही में छूटे हैं। आज एसीबी और ईओडब्‍ल्‍यू ने फिर कार्रवाई कर छापेमारी की है।

कांग्रेस सरकार में हुआ था घोटाला
बता दें कि पिछली कांग्रेस की सरकार में कथित शराब घोटाला हुआ था। जिसकी जांच राज्‍य सरकार की एजेंसी ईओडब्‍ल्‍यू- एसीबी कर रही है।

आज ईओडब्‍ल्‍यू, एसीबी ने छापा मार कार्यवाही की है। छत्‍तीसगढ़ में रायपुर, बिलासपुर और भिलाई में करीब 22 स्‍थानों पर छापा मारा है।

पूर्व सीएम के करीब हैं करोबारी
आज भिलाई में शराब कारोबारी नेहरू नगर निवासी विजय भाटिया और खुर्सीपार निवासी पप्पू बंसल के घर छापामार कार्रवाई की गई है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार ये दोनों कारोबारी के घर पहले ईडी ने रेड मारी थी, इस मामले में ये जेल भी जा चुके हैं। दोनों शराब करोबारियों को पूर्व सीएम भूपेश बघेल के करीबी बताए जा रहे हैं।

पूछताछ के आधार पर कार्रवाई

जानकारी के अनुसार ईओडब्‍ल्‍यू- एसीबी की टीम ने आज तड़के न्‍यू खूर्सीपार और नेहरु नगर में दाबिश दी है। खुर्सीपार में पप्पू बंसल और नेहरू नगर पूर्व निवासी विजय भाटिया के यहां जांच जारी है। बताया जा रहा है कि बसंल की लंबे समय से तलाश चल रही थी। बता दें कि ईओडब्‍ल्‍यू- एसीबी फिलहाल शराब घोटाला केस की जांच कर रही है। इस मामले में कारोबारी अरविंद सिंह और अनवर ढेबर को अरेस्‍ट कर चुकी है। कोर्ट के निर्देश पर दोनों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया।

जानकारी मिली है कि भिलाई में जो छापामार कार्रवाई की गई है, वह अरविंद सिंह और अनवर ढेबर से पूछताछ के दौरान मिले क्‍लू के आधार पर कार्रवाई की गई है।

12 अप्रैल तक हिरासत में ढेबर
शराब घोटाला (Chhattisgarh Liquor Case) के आरोप में अरेस्‍ट रायपुर के महापौर एजाज ढेबर के भाई अनवर ढेबर और अरविंद सिंह को 12 अप्रैल तक की हिरासत की अनुमति ईओडब्‍ल्‍यू- एसीबी को दी गई है।