दुर्गापुर नेताओं पर हुई कार्रवाई पर हस्तक्षेप करें डीआईसी

दुर्गापुर नेताओं पर हुई कार्रवाई पर हस्तक्षेप करें डीआईसी

निरंतर बढ़ते दुर्घटनाओं के संदर्भ में कर्मियों की सुरक्षा के मामलों को उठाए जाने के कारण दुर्गापुर इस्पात संयंत्र प्रबंधन द्वारा हिंदुस्तान स्टील एम्पलाइज यूनियन दुर्गापुर के दो साथियों सीमांत चटर्जी एवं सौरव दत्ता पर अनुशासनात्मक कार्यवाही की गई है इस पर आज भिलाई सहित सभी इस्पात संयंत्रों में सीटू यूनियनों द्वारा प्रदर्शन कर अपने-अपने संयंत्र के डीआईसी को पत्र देकर इन मामलों में उचित हस्तक्षेप करने की मांग की है

सुरक्षा को लेकर दिए जा रहे सुझाव पर ध्यान नहीं देता है प्रबंधन

पत्र देने के दौरान सीटू नेताओं ने कहा कि लंबे समय से स्थाई कर्मियों की नियुक्ति नहीं होना, कुशल एवं विशेष कुशल आवश्यकता वाले कार्यों में कुशल या अर्ध कुशल अस्थाई कर्मियों की नियुक्ति, कार्यों एवं कार्य स्थलों पर निहित संभावित जोखिम तथा खतरों के आंकलन एवं उनका निराकरण में प्रबंधकीय चूक, हाल ही में हुई प्राण घातक एवं गंभीर दुर्घटनाओं के कारण है। कर्मियों एवं उनके प्रतिनिधियों से सुरक्षा के मामले में मिलने वाले सुझावों को ना मानना या उन सुझावों पर उदासीन रुख अपनाने के कारण प्रबंधन द्वारा लगातार इस तरह की चूक हो रही है

आवश्यक कौशल वाले श्रम शक्ति का अत्यंत अभाव कार्यस्थल की अन्य विषम परिस्थितियों, कार्यों में निहित संभावित जोखिम एवं पत्रों पर सकारात्मक रुख अपना कर उचित कार्यवाही करने के बदले सुरक्षा मामलों को उठाने वाले यूनियन नेताओं को दंडित करना स्वीकार्य नहीं है।

दुर्घटनाओं के लिए जिम्मेदार अधिकारियों पर हो कार्यवाही

सेल के अनेक इकाइयों में एक के बाद एक कई दुर्घटनाओं में ठेका कर्मी और स्थाई कर्मचारी दुर्घटना ग्रस्त हुए और कुछ की मौत हो गई। जिसके विरोध में कर्मचारी यूनियनों द्वारा जिम्मेदार अधिकारियों पर कार्रवाई करने की मांग पर दुर्गापुर में सीटू पदाधिकारी कामरेड सीमांतों चटर्जी को निलंबित किया जाना दुर्भाग्यपूर्ण और दुर्घटनाओं को रोकने के प्रति उदासीनता को दिखाता है।
हिंदुस्तान स्टील एम्पलाइज यूनियन सीटू भिलाई सेल प्रबंधन द्वारा सीटू पदाधिकारी कामरेड सीमांतों चटर्जी के निलंबन कार्यवाही का विरोध करते हुए सेल प्रबंधन से तुरंत सीमांतों चटर्जी के निलंबन को वापस लेने दुर्घटनाओं के लिए जिम्मेदार अधिकारियों पर कार्यवाही करने की मांग करता है