Korba Loksabha Chunav 2024: सरोज पांडे को चुनाव आयोग का नोटिस: श्री बागेश्वर धाम सरकार वाले धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री के कार्यक्रम को लेकर हुई थी शिकायत, जाने क्‍या है पूरा मामला

{"remix_data":[],"remix_entry_point":"challenges","source_tags":[],"origin":"unknown","total_draw_time":0,"total_draw_actions":0,"layers_used":0,"brushes_used":0,"photos_added":0,"total_editor_actions":{},"tools_used":{"clone":2},"is_sticker":false,"edited_since_last_sticker_save":true,"containsFTESticker":false}

Korba Loksabha Chunav 2024: कोरबा संसदीय क्षेत्र से बीजेपी प्रत्‍याशी सरोज पांडे को चुनाव आयोग ने नोटिस जारी किया है। पांडे को यह नोटिस श्री बागेश्वर धाम सरकार धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री के कार्यक्रम को लेकर जारी किया गया है।

लोकसभा चुनाव के बीच चिरमिरी में श्री बागेश्वर धाम सरकार धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री का श्रीराम कथा चल रहा है। इस आयोजन के जरिये बीजेपी पर चुनाव प्रचार करने का आरोप लगा है। चिरमिरी कोरबा संसदीय क्षेत्र में आता है। कांग्रेस नेता की तरफ से की गई शिकायत के आधार पर चुनाव आयोग ने कोरबा से बीजेपी प्रत्‍याशी सरोज पांडे को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है।

जिला कांग्रेस कमेटी एम.सी.बी. के अध्‍यक्ष अशोक श्रीवास्तव अध्यक्ष ने चुनाव आयोग से की गई शिकायत में आरोप लगाया था कि धीरेंद्र कृष्‍ण शास्त्री के कार्यक्रम का प्रचार-प्रसार कोरबा लोकसभा के भाजपा प्रत्याशी सरोज पांडे और राज्‍य सरकार के मंत्रियों के फोटो फ्लेक्स लगाकर किया जा रहा है साथ ही इनकी फोटो पलेक्स को नगर निगम चिरमिरी और नगरपालिका मनेन्द्रगढ़ में कई सरकारी बिजली के खंभों में लगाया गया है जो कि आचार संहिता का उल्लंघन है जिस कारण उक्त कार्यक्रम को रद्द किये जाने की मांग की गई है।

इस शिकायत के सत्‍यपान के लिए आयोग की तरफ से वहां उड़नदस्ता भेजा गया। वीडियों निगरानी दल द्वारा कार्यक्रम स्थल पर की गई वीडियोग्राफी में की गई जहां स्थल के बाहर श्रद्धालुओं और आगंतुकों को भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा बीजेपी के गमछे पहनाकर राजनैतिक पार्टी का प्रचार प्रसार किया गया है। जिससे यह परिलक्षित होता है कि धार्मिक आयोजन की आड़ में राजनैतिक हित साधने का प्रयास किया गया है।

खंडगवा, चिरमिरी के चौक-चौराहों में शासकीय परिसम्पत्तियों पर भारतीय जनता पार्टी के अभ्यर्थी द्वारा श्री बागेश्वर धाम सरकार की फोटो के साथ पोस्टर चस्‍पा कर राजनैतिक प्रचार-प्रसार किया गया है। जो कि स्पष्टतः आदर्श आचार संहिता का उल्लघंन है। आयोग ने नोटिस में कहा है कि क्यों न 26 अप्रैल 2024 दिन शुक्रवार को लाल बहादुर शास्त्री स्टेडियम, गोदरीपारा चिरमिरी में आयोजित श्री बागेश्वर धाम सरकार धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री जी के कार्यक्रम को राजनैतिक प्रयोजनार्थ आयोजित कार्यक्रम मानते हुए, इस कार्यक्रम के आयोजन एवं प्रचार-प्रसार में हुए व्यय को आपके राजनैतिक पार्टी के उपगत खर्च के व्यय लेखा में शामिल किया जावे तथा इसे आदर्श आचार संहिता का उल्लघन माना जायें। इस पर 29 अप्रैल तक जवाब देने का निर्देश दिया गया है।

आस्था की आड़ लेकर वोट मांगना सरासर गलत”: एमसीबी कांग्रेस जिलाध्यक्ष अशोक श्रीवास्तव ने चिरमिरी में पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री के कार्यक्रम को लेकर नाराजगी जताई. अशोक श्रीवास्तव ने कहा, “हम किसी धर्म का विरोध नहीं करते धर्म अपने जगह एक समान है. पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री महाराज, जो सनातन धर्म, राम कथा और हनुमान जी की कथा का वाचन करते है. हम सब की श्रद्धा भी उन पर है. लेकिन जिस प्रकार से कल भारतीय जनता पार्टी ने धीरेंद्र शास्त्री जी का दुरुपयोग किया, धर्म के नाम पर आस्था के साथ खिलवाड़ किया और वहां पर लोगों का भीड़ इकट्ठा कर अपना प्रचार प्रसार किया, पूर्णता आचार संहिता का उल्लंघन है. यह बिल्कुल ही धर्म के खिलाफ है.”
पूजा पाठ तो होते रहना चाहिए, इस पर किसी प्रकार का किसी को कोई दिक्कत नहीं. लेकिन जिस प्रकार से आस्था की आड़ लेकर चुनावी मुद्दा बनाकर बीजेपी प्रत्याशी ने वोट मांगा, जिस तरह धार्मिक कार्यक्रम में बीजेपी के पर्चे बांटे गए, यह खुला आचार संहिता का उल्लंघन था. यह सरासर गलत है या आस्था के साथ खिलवाड़ है. धर्म में राजनीति की कोई जगह नहीं है. आस्था अपनी जगह है और राजनीति अपनी जगह है. दोनों को शामिल करना उचित नहीं है.” – अशोक श्रीवास्तव, कांग्रेस जिलाध्यक्ष, एमसीबी

जो आरोप लगाए हैं, वो निराधार हैं”:चिरमिरी में आयोजितबागेश्वर महाराज के कार्यक्रम में बीजेपी के चुनाव प्रचार के आरोपों को बीजेपी प्रत्याशी सरोज पांडेय ने खारिज कर दिया है. उन्होंने कहा, “कांग्रेस के जिलाध्यक्ष ने जो आरोप लगाए हैं, वो निराधार हैं. हम उसका जवाब देंगे. वो हमेशा ही विषयों को परिवर्तित करने की कोशिश करते हैं. जब सीधी लड़ाई में जीत नहीं पाते हैं, तो लड़ाई को इस प्रकार से मोड़ने की दिशा में यह गलत शुरुआत है और उसपर हम जवाब देंगे.”

बाबा बागेश्वर धाम में लोगों की बहुत आस्था है. तो यदि उस आस्था पर आघात होता है, तो यह उचित नहीं है. हर कोई जहां उसकी आस्था है, वहां जा सकते हैं. ये पहले भगवान राम के लिए भी यही करते थे. कांग्रेस का ये पुराना इतिहास है कि वो एक वर्ग के वोट के लिए वोट की तुष्टिकरण की राजनीति करते हैं.” – सरोज पांडेय, बीजेपी प्रत्याशी, कोरबा लोकसभा सीट