महिलाओं के लिए खुशखबरी, जारी होने वाली है महतारी वंदन योजना की तीसरी किस्त, जानें कब-कैसे?

प्रदेश की विष्णुदेव साय सरकार 70 लाख महिलाओं के खातों में महतारी वंदन योजना का राशि ट्रांसफर करने जा रही है. महिलाओं के खातों में एक हजार रुपये सीधे तौर पर ट्रांसफर किए जाएंगे. प्रदेश के उपमुख्यमंत्री अरुण साव ने कहा कि माताओं को यह राशि मिलती रहेगी।

छत्तीसगढ़ की महिलाओं के लिए आज यानी 1 मई का दिन बेहद खास होगा। प्रदेश की विष्णुदेव साय सरकार 70 लाख महिलाओं के खातों में महतारी वंदन योजना का राशि आज ट्रांसफर करेगी। महिलाओं के खातों में एक हजार रुपये सीधे तौर पर ट्रांसफर किए जाएंगे. प्रदेश के उपमुख्यमंत्री अरुण साव ने कहा कि कल माताओं को तीसरी किश्त जारी होगी. जब तक हमारी सरकार रहेगी, महिलाओं को राशि मिलती रहेगी. उन्होंने बताया कि बीजेपी छत्तीसगढ़ में बोरे-बासी दिवस नहीं मनाएगी। क्योंकि, कांग्रेस ने संस्कृति के नाम पर दिखावा किया. कोई कोई चम्मच, तो कोई कांटे से बोरे-बासी खाता नजर आया. राज्य के लोगों को बोरे-बासी खाना सिखाने की जरूरत नहीं है. यह हमारी दिनचर्या और आहार में शामिल रहा है।

गौरतलब है कि बीजेपी ने विधानसभा चुनाव के दौरान अपने घोषणा पत्र में महतारी वंदन योजना के तहत हर महिला को एक हजार रुपये देने की घोषणा की थी. वहीं, कांग्रेस ने महिलाओं को सालाना 15 हजार रुपये देने की बात कही थी. लेकिन, लोगों ने बीजेपी पर भरोसा जताया. सरकार बनने के बाद बीजेपी ने करीब 70 लाख महिलाओं को 10 मार्च को पहली किस्त जारी की थी। आज तीसरी किस्त जारी होने वाली है. लोकसभा चुनाव के बीच बीजेपी महतारी वंदन योजना को खूब भुना रही है। वहीं, कांग्रेस ने इस बार लोकसभा चुनाव में जीत के बाद महिलाओं को एक लाख रुपये सालाना देने की घोषणा की है।

पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्रांसफर की थी पहली किस्त
इस साल 10 मार्च को महतारी वंदन योजना की पहली किस्त जारी की गई थी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 70 लाख 12 हजार 800 पात्र महिलाओं को योजना के पहले चरण में 655 करोड़ 57 लाख रुपये की राशि डीबीटी के माध्यम से ट्रांसफर की थी. इस योजना की पहली किस्त जारी करने के लिए रायपुर के साइंस कॉलेज मैदान में सम्मेलन आयोजित किया गया था. इस मौके पर पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा था कि आज छत्तीसगढ़ को महतारी वंदन योजना को समर्पित किया है. 70 लाख से ज्यादा महिलाओं को 1 हजार रुपये हर महीने देने का वादा किया था. बीजेपी सरकार ने अपना वादा पूरा किया है।