भिलाईवासियों के दुख भरे दिन खत्म: सुपेला रेलवे अंडरब्रिज आवाजाही के लिए शुरू,टाउनशिप और पटरीपार आने-जाने के लिए 4 किमी का चक्कर अब नही लगाना,अभी भी यहां दिखी कई खामियां…

सुपेला अंडरब्रिज का डीआरएम रायपुर रेलमंडल, संजीव कुमार ने गुरुवार को रात 9.45 बजे नारियल फोड़कर लोकार्पण किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि तीन एक्जिट वाला अंडरब्रिज आम लोगों के लिए खोल दिया गया है। इसके शुरू होने से टाउनशिप में सेक्टर 2,सेक्टर 6, सेक्टर 4, सेक्टर 5, और पटरीपार क्षेत्र में सुपेला, वैशाली नगर,राधिका नगर,रामनगर में रहने वाले लाखों लोगों को फायदा होगा। इसके शुरू होने से आकाशगंगा,सुपेला बाजार,दक्षिण गंगोत्री आने-जाने के लिए राहगीरों को 4 किलोमीटर का दूरी तय नहीं करनी पड़ेगी, इससे उनके समय और ईंधन दोनों की बचत होगी। महज 26 करोड़ की लागत से यह बनकर तैयार हुआ है। इसके बन जाने से लोगों को देर तक रेलवे फाटक खुलने को लेकर जो इंतजार करना था, वह खत्म हो गया है।

पानी निकासी की व्यवस्था बेहतर की गई है, इस वजह से बारिश के मौसम में भी राहगीरों को दिक्कत नहीं होगी, इसको लेकर पहले भी टेस्टिंग की गई है। प्रदेश में सारे रेलवे फाटक को बंद कर इस तरह से अंडरब्रिज बनाया जाएगा, जिससे ट्रेनों के आवागमन से आम लोगों का आना जाना बाधित न हो।

यहां दिखी खामियां

सुपेला, अंडरब्रिज का जायजा लेने के दौरान डीआरएम, रायपुर मंडल ने दोनों ओर किनारे किए गए वाइट पट्टी पेंट को लेकर अधिकारियों से पूछा। दरअसल वाइट पट्टी फैल गई है, इससे काम सही तरीके से हुआ है या नहीं। यह जानना चाहा। इसी तरह से उन्होंने किनारे में पानी निकासी के लिए की गई व्यवस्था को देखा। इसको लेकर भी पूछताछ किया। उनके साथ रेलवे के अन्य मातहत अधिकारी मौजूद थे। अंडरब्रिज का उन्होंने बारीकी से जायजा लिया। निर्माण कार्य में नजर आ रही खामियों पर उनकी नजर थी। वे अधिकारियों से निर्माण संबंधी कई सवाल भी किए।

अगस्त में होना था शुरू

एजेंसी ने अंडरब्रिज का काम 17 अगस्त 2022 से काम शुरू किया था। एक साल में इस काम को अगस्त 2023 तक पूरा कर देना था। टाउनशिप की ओर यह दो मुंह वाला और सुपेला की ओर एक मुंह वाला अंडरब्रिज है। नेहरू नगर की तर्ज पर यह दो लाइन वाला है। अब जाकर यह काम पूरा हुआ।