राजनीतिक और प्रशासनिक हलकों में मचा हंगामा: ये कैसे मुमकिन हैं? शख्स ने 8 बार डाला वोट, वीडियो वायरल होने पर विपक्ष ने उठाए सवाल, FIR दर्ज,पोलिंग टीम को किया सस्पेंड, देखें वायरल वीडियो

यूपी के मुख्य निर्वाचन अधिकारी नवदीप रिणवा ने जानकारी देते हुए बताया कि मतदान दल के सभी सदस्यों को निलंबित करने एवं उनके विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही संस्थित करने के निर्देश जारी किये गये हैं. संबंधित मतदान केंद्र पर चुनाव आयोग को पुनर्मतदान की सिफारिश की गई है।

सोशल मीडिया पर एक ही शख्स द्वारा कई बार वोट डाले जाने के वायरल हो रहे वीडियो मामले में एफआईआर दर्ज कर ली गई है. यूपी के मुख्य निर्वाचन अधिकारी नवदीप रिणवा ने जानकारी देते हुए बताया कि घटना की एफआईआर एटा जिले के नयागांव थाने में आईपीसी की धारा 171-एफ और 419, आरपी एक्ट 951 की धारा 128, 132 और 136 के तहत दर्ज की गई है. वहीं वीडियो में कई बार वोट करते दिख रहे व्यक्ति की पहचान खिरिया पमारान गांव निवासी राजन सिंह पुत्र अनिल सिंह के रूप में हुई है और उसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि मतदान दल के सभी सदस्यों को निलंबित करने एवं उनके विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही संस्थित करने के निर्देश जारी किये गये हैं. संबंधित मतदान केंद्र पर चुनाव आयोग को पुनर्मतदान की सिफारिश की गई है. यूपी के बाकी चरणों के सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों को मतदाताओं की पहचान के संबंध में प्रक्रिया का सख्ती से पालन करने के सख्त निर्देश जारी किए गए हैं।

बता दें कि वीडियो सामने आने के बाद राजनीतिक और प्रशासनिक हलकों में हंगामा मच गया. वायरल हो रहे वीडियो में एक युवक कथित तौर पर 8 बार भाजपा को वोट डालते हुए वीडियो बना रहा है. वीडियो को ट्वीट करते हुए समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने एक्स पर लिखा, ‘अगर चुनाव आयोग को लगे कि ये गलत हुआ है तो वो कुछ कार्रवाऊ जरूर करे, नहीं तो…’

फर्रुखाबाद लोकसभा के समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी डॉ0 नवल किशोर शाक्य ने मामले की शिकायत मुख्य निर्वाचन आयुक्त, एटा और फर्रुखाबाद के जिला निर्वाचन अधिकारी से कर पुनः मतदान करवाने की मांग की है।

मामले की गंभीरता को देखते हुये अलीगंज के एसडीएम प्रतीत त्रिपाठी ने एटा के नायगाव थाना में आईपीसी की धारा 171 एफ, 419, व आईटी एक्ट की धारा 66 व लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम की धारा 132, 136, 128 के तहत रिपोर्ट दर्ज करवाकर जांच शुरू दी है. उस पोलिंग बूथ के सभी कर्मियों को सस्पेंड करने के आदेश जारी कर दिए गए है।