पं.प्रदीप मिश्रा के खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन की शिकायत, कथाओं में एक पार्टी के लिए वोट मांगने का आरोप,क्या है पूरा मामला?

प्रसिद्ध कथा वाचक के खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन की शिकायत की गई है। उन पर आरोप है कि वे अपनी कथाओं में पार्टी विशेष के लिए मतदान करने की बात कह रहे हैं। लोकसभा चुनाव तक उनकी कथाओं पर रोक लगाने की भी मांग की गई है।

कांग्रेस ने चुनाव आयोग से कथावाचक पंडित प्रदीप मिश्रा की शिकायत की है। पार्टी का आरोप है कि कथावाचक प्रदीप मिश्रा द्वारा अपनी धार्मिक कथाओं में पार्टी विशेष और एक नेता का नाम लेकर वोट देने की अपील करने तथा पार्टी विशेष के नेताओं को बुलाकर धर्म का राजनीतिकरण कर रहे हैं।

जिला कांग्रेस के पूर्व महासचिव पंकज शर्मा ने भारत के मुख्य निर्वाचन आयुक्त के नाम संबोधित एक पत्र कलेक्टर कार्यालय देकर कथावाचक पंडित प्रदीप मिश्रा की आचार संहिता उल्ंलघन की शिकायत की है। शर्मा ने कहा कि पिछले दिनों सीहोर के कथावाचक प्रदीप मिश्रा ने एक कथा महाराष्ट्र के परतवाड़ा में की थी, जिसके पहले दिन 6 मई को प्रदीप मिश्रा ने सीधेज-सीधे एक धार्मिक आयोजन में प्रधानमंत्री और भाजपा का नाम लेकर उनके लिए वोट मांगे थे जो कि चुनाव आयोग के निर्देशों का उल्लंघन है और संविधान विरोधी है। इसी कथा में आखिरी दिन 12 मई को अमरावती की निर्दलीय सांसद और भाजपा सांसद प्रत्याशी नवनीत राणा ने भी इसी कथा में धर्म के नाम पर वोट मांगे थे और भाषण दिया था, जिसके लिए इन दोनों के खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन का मामला दर्ज किए जाने की मांग उन्होंने मुख्य निर्वाचन आयुक्त से की है।

पंकज शर्मा ने आगे कहा कि कथावाचक प्रदीप मिश्रा पहले भी देश के संविधान को बदलने, लोकतंत्र को खत्म करने और हिंदू राष्ट्र बनाने संबधी अनर्गल बयान देते रहे हैं। इनका देश के लोकतंत्र और संविधान में कोई विश्वास नहीं है और ये जानबूझकर अपनी धार्मिक कथाओं में भाजपा नेताओं को बुलाकर धर्म के नाम पर वोट मांगकर भोली भाली जनता को गुमराह करने का काम करते हैं। परतवाड़ा की कथा में भी उन्होंने प्रधानमंत्री के नाम पर और भाजपा के लिए वोट मांगकर और भाजपा सांसद प्रत्याशी को बुलाया। धर्म का राजनीतिकरण करने पर प्रदीप मिश्रा और नवनीत राणा पर आचार संहिता उल्लंघन का मुकदमा कायम कर लोकसभा चुनाव समाप्त होने तक प्रदीप मिश्रा की सभी कथाओं पर रोक लगाई जाए। उनसे धर्म का राजनीतिकरण करने पर सार्वजनिक रूप से माफी मांगने का निर्देश भारत निर्वाचन आयोग द्वारा दिए जाने तथा नवनीत राणा का नामांकन पत्र खारिज किए जाने की मांग पंकज शर्मा ने मुख्य निर्वाचन आयुक्त से की है।

इस संबंध में कथावाचक प्रदीप मिश्रा की तरफ से विठलेश सेवा समिति ने आरोपों का जवाब दिया है। समिति के समीर शुक्ला ने कहा कि पंडित जी ने किसी पार्टी विशेष को वोट देने के लिए नहीं कहा था। उन्होंने सनातन के लिए मतदान करने की बात कही थी।