भारी वाहनों के अनधिकृत प्रवेश रोकने एवं गेटो में भारी वाहनों की व्यवस्था सुधारने हेतु सीटू ने दिया डायरेक्टर इंचार्ज को पत्र

भारी वाहनों के अनधिकृत प्रवेश रोकने एवं गेटो में भारी वाहनों की व्यवस्था सुधारने हेतु सीटू ने दिया डायरेक्टर इंचार्ज को पत्र

भारी वाहनों के अनधिकृत प्रवेश को पूरी तरह से प्रतिबंधित करने एवं संयंत्र के अंदर जाने वाली भारी वाहनों की व्यवस्था को सुधारने को लेकर दुर्ग रेंज के आईजी को पत्र देने के बाद शुरू हुई कार्यवाही के तहत पुलिस प्रशासन एवं बीएसपी प्रबंधन के बीच प्रारंभिक बातचीत शुरू होने की बात संज्ञान में आई है साथ ही साथ और कई दौर के बातचीत कर व्यवस्था को दुरुस्त किए जाने की बात है इन सब बातों को ध्यान में रखते हुए सीटू की टीम ने कुछ महत्वपूर्ण सुझाव के साथ महाप्रबंधक औद्योगिक संबंध विभाग के माध्यम से डायरेक्टर इंचार्ज भिलाई इस्पात संयंत्र को पत्र दिया एवं अनुरोध किया कि सीटू द्वारा के दिए गए सुझाव पर विचार कर जल्द से जल्द कार्यवाही प्रारंभ करवाए ताकि दुर्घटनाएं एवं अप्रिय घटनाओं पर नियंत्रण किया जा सके

7 महीने में गई तीन लोगों की जान

सीटू नेताओं ने कहा कि 18 नवंबर 2023 को खुर्सीपार गेट के पास रात्रि पाली जा रहे एक कर्मी को आयरन ओर लेने जा रहे बड़े ट्रक ने कुचल दिया, वही 23 मई 2024 को पंथी चौक के पास एक भारी वाहन ने दसवीं की छात्रा को कुचल दिया, 3 जून 2024 को बोरिया गेट के पास ट्रक ने महिला को कुचल दिया I इसके साथ ही साथ छुटपुट दुर्घटनाएं लगातार हो रही हैं जिस पर नियंत्रण करने के लिए जल्द से जल्द उचित पहल शुरू किया जाना जरूरी है इन वस्तु स्थिति को नजर में रखते हुए सीटू ने डायरेक्टर इंचार्ज के सामने लिखित में कुछ सुझाव प्रस्तुत किया

अनधिकृत प्रवेश पर लगे भारी फाइन

अनाधिकृत रूप से भिलाई शहर में प्रवेश कर रहे भारी वाहनों को पूरी तरह से प्रतिबंधित करने के लिए हुडको एवं मरोड़ा सेक्टर के पास हाइट बैरियर लगाया जाए उसके बाद भी यदि अनधिकृत रूप से कोई भारी वाहन भिलाई शहर में प्रवेश करता है तो यातायात पुलिस की सहायता से अनाधिकृत प्रवेश करने वाले गाड़ियों पर भारी फाइन की व्यवस्था करवाया जाए

संयंत्र प्रवेश करने वाले भारी वाहनों की व्यवस्था करें दुरुस्त

सीटू नेता ने कहा कि 2018 में बीएसपी प्रबंधन पुलिस प्रशासन सीआईएसएफ एवं सीटू के साथ चार स्तरीय टीम बैठक कर बोरिया गेट एवं आसपास के क्षेत्र का निरीक्षण कर पार्किंग एवं अन्य व्यवस्था करने का निर्णय लिया एवं लंबे अंतराल बाद उस पर अमल भी हुआ किंतु अभी भी व्यवस्था दुरुस्त नहीं है इसीलिए बोरिया गेट में भारी वाहनों के लिए तैयार किए गए पार्किंग की व्यवस्था को नए सिरे से दुरुस्त किया जाना जरूरी है जिसके तहत संयंत्र में प्रवेश करने वाली गाड़ियों को टोकन वितरित किया जाए, टोकन नंबर डिस्प्ले करने के लिए बड़ा डिजिटल डिस्पले बोर्ड लगाया जाए, टोकन नंबर अनाउंस करने के लिए माइक की व्यवस्था की जाए एवं पार्किंग क्षेत्र में ही कंट्रोल रूम बनाया जाए।

व्यवस्था सुधारने में ली जाए सीआईएसएफ की मदद

बोरिया गेट, मेंन गेट एवं खुर्सीपार गेट में भारी वाहन पार्किंग स्थल में व्यवस्था को नियंत्रित करने हेतु सीआईएसएफ की मदद लेते हुए सभी दिन 24 घंटे पुरुष जवानों को तैनात करने की व्यवस्था की जाए (क्योंकि भारी वाहनों की व्यवस्था एवं उन्हें संयंत्र में प्रवेश करना भी संयंत्र का ही हिस्सा है) ज्ञात हो की भिलाई इस्पात संयंत्र के अस्पताल एवं अन्य टाउनशिप की इकाइयों में भी सीआईएसएफ की तैनाती रहती है उसी तर्ज पर यहां भी सीआईएसएफ की मदद लेना आवश्यक है

जल्द शुरू हो वनवे रोड का काम

सीटू नेता ने कहा कि सीटू लंबे समय से पत्र देकर यह मांग कर रहा था कि बोरिया गेट से मेंन गेट तक बनाए गए वनवे रोड की तरह ही बोरिया गेट से पंथी चौक तक वनवे रोड बनाया जाए। एक साल पहले भी बीएसपी प्रबंधन के साथ हुई बैठक में उच्च अधिकारियों ने यह बताया था कि बोरिया गेट से लेकर पंथी चौक तक वनवे रोड बनाने के संदर्भ में कार्य किया जा रहा है किंतु आज एक साल बीत जाने के बाद भी स्थिति जस की तस है साथ ही साथ पंथी चौक से नेहरू नगर फ्लाईओवर तक वनवे रोड का काम भी तुरंत शुरू करने की बात कही गई थी किंतु आज भी काम शुरू नहीं हो सका है।