दुर्ग में तेज रफ्तार भूसा भरे ट्रक ने कोचिंग से लौट रही छात्रा को रौंदा

दुर्ग में तेज रफ्तार भूसा भरे ट्रक ने कोचिंग से लौट रही छात्रा को रौंदा

दुर्ग जिले में आज अंजोरा ( ख ) में चंगोरी मार्ग में सुबह-सुबह कोचिंग से लौट रही छात्रा को तेज रफ्तार ट्रक ने अपने चपेट में ले लिया। बताया जा रहा है कि हादसा सुबह 7:30 के आसपास की घटना है।
प्राप्त जानकारी अनुसार छात्रा का नाम तोजश्वी पारकर,पिता भोजेंद्र पारकर,चंगोरी निवासी है जो नवी कक्षा की छात्रा थी।
प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार ट्रक क्रमांक CG 04 ZC 3391 बेहद ही तेज रफ्तार में थी जिसमे भूसा भरा हुआ था,कोचिंग से लौट रही छात्राओं का एक समूह आगे हो गया और तोजस्वी पीछे रह गई थी। तेज रफ्तार ट्रक ने साइकिल सवार छात्रा की जान ले ली। मौके से ड्राइवर फरार हो गया जनता का हुजूम लगा हुआ है पास में ही पुलिस चौकी होने पर भी घटना की जानकारी के बाद भी 112 समय पर नहीं पहुंच सका।
विधायक ललित चंद्राकर पहुंचे, फिर भी बिगड़ा मामला
चंगोरी के ग्रामीण पीड़ित परिवार के संग घटनास्थल पर न्याय की मांग पर अड़ गए, पुलिस प्रशासन और राजस्व विभाग के अधिकारी भी मौके पर पहुंचे विधायक ने सरकारी मुआवजा का आश्वासन दिया लेकिन पीड़ित पक्ष ट्रक मालिक से मुआवजा की मांग कर रहे थे। विधायक ललित चंद्राकर ने पुलिस अधिकारियों को स्टॉपर जिग जैग ऑर्डर में लगाने की बात कही है और उसे 8 से 10 दिनों में पूरा करने कहा है।


विधायक के वापस लौटने के बाद मामला फिर उल्टा हो गया और अनियंत्रित भीड़ दुर्ग राजनांदगांव मार्ग पर चक्का जाम के लिए बैठ गई। और लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति निर्मित हो गई।
इस दौरान पुलिस प्रशासन को भारी मशक्कत का सामना करना पड़ा।
पुलिस चौकी में बवाल के साथ हुआ समझौता
ग्रामीणों का आरोप था कि चक्का जाम से उठाकर समझौता के लिए ले जाया गया लेकिन चौकी में कोई नहीं था ट्रक ड्राइवर मालिक सब फरार थे जबकि पुलिस यही बोलकर ले गई कि समझौता होना है जिससे चौकी में हंगामा हुआ कांग्रेस नेता जयंत देशमुख ने मध्यस्थता करते हुए पीड़ित पक्ष को तत्काल ₹ 50000 देने की मांग की जिसे पूरा किया गया। वहीं आगे एक दो दिन में जनपद सदस्य हरेंद्र देव, पूर्व सरपंच हिंछाराम पारकर, माखन साहू सहित क्षेत्रीय प्रतिनिधि को मामले पर ट्रक मालिक से समझौते के लिए पीड़ित पक्ष की ओर से आने के लिए कहा गया है।