2024 के जश्न में कोरोना की एंट्री: दुर्ग में सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमित,भिलाई में एक मरीज की मौत,13 एक्टिव मरीज अस्पताल में भर्ती

दुर्ग में कोरोना संक्रमण से पीड़ित बुजुर्ग ने इलाज के दौरान गुरुवार को दम तोड़ दिया. दुर्ग में गुरुवार के दिन फिर 6 नए कोरोना मरीज भी मिले हैं. 6 नए मरीज मिलने के बाद जिले में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर 13 तक पहुंच गई है. सभी मरीजों का इलाज दुर्ग के अलग अलग अस्पतालों के कोविड वार्ड में चल रहा है. जिला स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक लगातार आरटीपीसीआर टेस्ट और रैपिड टेस्ट किया जा रहा है. अस्पतालों में दवाओं का स्टॉक भी बढ़ाया जा रहा है।

कोरोना से बुजुर्ग की मौत: गुरुवार को जिला स्वास्थ्य विभाग ने 178 लोगों का सैंपल लिया जिसमें 78 लोगों का आरटीपीसीआर सैंपल और 131 लोगों का रैपिड कोरोना जांच हुआ. आंकड़ों के मुताबिक दुर्ग में 3 और भिलाई में 3 कोरोना पॉजिटिव मिले. भिलाई के कैंप वन में रहने वाली 81 साल के बुजुर्ग की सेक्टर 9 अस्पताल में इलाज के दौरान मौत भी हो गई. मृतक की जांच रिपोर्ट अस्पताल के मुताबिक कोरोना पॉजिटिव थी. बुजुर्ग कई और बिमारियों से से पीड़ित थे. इलाज के दौरान उन्होने दम तोड़ दिया।

अस्पतालों को जारी गाइडलाइन: कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए जिला स्वास्थ्य विभाग ने विभिन्न अस्पतालों में कोरोना जांच करने के निर्देश दिए हैं. जांच बढ़ाए जाने के निर्देश मिलते ही जिला अस्पताल दुर्ग,सुपेला शासकीय अस्पताल,सेक्टर 9 अस्पताल,चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल कॉलेज जुनवानी और श्री शंकराचार्य मेडिकल कॉलेज जुनवानी में मेडिकल सुविधाएं बढ़ाई जानी शुरु कर दी गई है. स्वास्थ्य विभाग को सरकार की ओर से भी कहा गया है कि वो टेस्ट की संख्या बढ़ाए और अस्पतालों में सुविधाओं का इजाफा भी करे. स्वास्थ्य विभाग ने ऑक्सीजन सिलेंडर के स्टॉक भी बढ़ाने के निर्देश जारी कर दिये हैं. लोगों से भी अपील की गई है कि वो कोरोना गाइडलाइन का पालन फिर से शुरु कर दें. किसी को भी अगर कोरोना के लक्ष्ण नजर आएं तो तुरंत अपना टेस्ट कराएं।