लोकसभा क्षेत्र का धुआंधार दौरा कर रहे कांग्रेस प्रत्याशी राजेन्द्र साहू : चौतरफा समर्थन मिल रहा : कहा – भाजपा ने महंगाई और बेरोजगारी बढ़ाई : देश की जनता मोदी सरकार की वादाखिलाफी को नहीं भूलेगी

लोकसभा क्षेत्र का धुआंधार दौरा कर रहे कांग्रेस प्रत्याशी राजेन्द्र साहू : चौतरफा समर्थन मिल रहा : कहा – भाजपा ने महंगाई और बेरोजगारी बढ़ाई : देश की जनता मोदी सरकार की वादाखिलाफी को नहीं भूलेगी

दुर्ग। आज दुर्ग लोकसभा क्षेत्र के बेमेतरा जिले में पुराना बस स्टैंड बेमेतरा में जिला कार्यालय का उद्घाटन किया गया, जिसमें बड़ी संख्या में कार्यकर्त्ता एवं आम जनता उपस्थित हुई, कार्यालय उद्घाटन में राजेंद्र साहू ने कार्यकर्ताओं में जोश भरते हुए कहा कि दुर्ग लोकसभा का प्रत्याशी मैं बस नही, क्षेत्र का हर कार्यकर्ता प्रत्याशी है पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने मुझ जैसे जमीनी कार्यकर्ता को टिकिट दिया है, जो मेरे के लिए गर्व की बात है, मुझ जैसे के कार्यकर्ता को टिकिट मिली है इसका मतलब दुर्ग के हर छोटे बड़े कार्यकर्ता को टिकिट मिली है, हम सभी मिलकर इस चुनाव में कांग्रेस पार्टी को विजय बनाकर यह संदेश देंगे कि पार्टी का हर कार्यकर्ता मजबूत होता है और मेहनत करता है,
कार्यालय उद्घाटन के पश्चक्त नांदघाट ग्राम करमसेन में मछुआ कांग्रेस द्वारा आयोजित कार्यकर्ता बैठक में कांग्रेस के लोकसभा प्रत्याशी राजेन्द्र साहू शामिल हुए। बैठक में पूर्व मंत्री रविन्द्र चौबे, पूर्व मंत्री गुरु रुद्र कुमार, पूर्व विधायक आशीष छाबड़ा विशेष रूप से उपस्थित थे।


बैठक में राजेंद्र साहू ने कार्यकर्ताओं से कांग्रेस की न्याय योजनाओं को प्रत्येक व्यक्ति तक पहुंचाने का आव्हान किया। बैठक को संबोधित करते हुए राजेंद्र ने कहा कि 10 साल पहले भाजपा और विशेष रूप से पीएम नरेंद्र मोदी ने आम जनता से महंगाई कम करने, बेरोजगारी दूर करने, किसानों की आय दोगुनी करने सहित कई वादे किये थे। इन वादों को पूरा नहीं किया गया। आम जनता इस वादाखिलाफी को भूली नहीं है। 7 मई को मतदान के दिन दुर्ग लोकसभा क्षेत्र की जनता इस वादाखिलाफी का करारा जवाब भाजपा को देगी।
बैठक में निषाद समाज के अध्यक्ष लालाराम निषाद, उपाध्यक्ष पुसउ निषाद, सचिव रामाधार निषाद, कोषाध्यक्ष पूनाराम निषाद, संगठन सचिव भगवती निषाद, सहसचिव बिसनाथ निषाद, सलाहकार रवि निषाद, सरपंच मंगला निषाद, मंत्री बुधेलाल, मोहन निषाद, अशोक निषाद, नेमा निषाद, श्रीराम निषाद, सम्मन निषाद, नाथूराम निषाद, शिवचरण निषाद नरेंद्र निषाद मोहन निषाद रामसिंग निषाद राजाराम निषाद अमलेश निषाद विशेश्वर निषाद आदि उपस्थित थे।